15 दिन में थरूर का यू-टर्न, वैक्सीन के एक्सपोर्ट बैन पर सरकार को घेरा तो हो गए ट्रोल

नई दिल्ली

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और लोकसभा सांसद शशि थरूर ने मोदी सरकार पर फिर तीखा हमला बोला है। वैक्सीन के निर्यात बैन को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत सरकार को घेरा है। WHO की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने कहा है कि मोदी सरकार के इस फैसले से दुनिया के 91 देशों पर बुरा असर पड़ा है। सौम्या के इसी बयान को लेकर शशि थरूर ने मोदी सरकार को घेरा है और कहा कि उनकी सरकार को अपना सिर शर्म से झुका लिया। हालांकि थरूर के लिए सबसे बड़ा सिरदर्द उनका महज 15 दिन पुराना एक ट्वीट बन गया है। लोग ट्विटर पर उन्हें उनके इस दोहरे रवैये के लिए बुरी तरह ट्रोल कर रहे हैं।

दरअसल 16 मई को किए अपने ट्वीट में उन्होंने ही मोदी सरकार पर वैक्सीन के दूसरे देशों को देने को लेकर हमला बोला था। दरअसल उस वक्त कांग्रेस ने दिल्ली में जगह-जगह पोस्टर लगाए थे जिनमें लिखा था कि ‘मोदीजी हमारे बच्चों की वैक्सीन को विदेश क्यों भेज दिया।’ इन पोस्टर्स पर काफी बवाल हुआ था। 16 मई को किए अपने ट्वीट में उन्होंने कहा था, ‘कोविड मरीजों की मदद करने की जगह भारत सरकार की दिल्ली पुलिस ने इन पोस्टरों को लगाने के लिए 17 एफआईआर दर्ज की हैं। पुलिस ने पोस्टर लगाने के लिए मजदूरों, पेन्टर और ऑटो ड्राइवरों को गिरफ्तार किया है। उनके सपोर्ट में मैं भी यह पोस्टर शेयर कर रहा हूं।’

इसके अलावा उन्होंने अपने एक बयान में कहा था, ‘इस वक्त सबसे जरूरी है कि पूरी दुनिया की फिक्र करने की जगह भारत के सभी लोगों को पूरी तरह वैक्सीनेट किया जाए। हम भारत सरकार से अपील करते हैं कि जब देश के सभी लोगों को वैक्सीन की पूरी डोज लग जाएं तभी वैक्सीन के निर्यात से पाबंदियों को हटाना चाहिए।’

शशि थरूर के दोहरे रवैये के लिए लोग कर रहे ट्रोल
हैरानी की बात है कि दूसरे जरूरतमंद देशों को वैक्सीन देने के जिस फैसले के खिलाफ शशि थरूर 15 दिन पहले तक मोर्चा खोले थे, आज जब केंद्र सरकार ने वैक्सीन के निर्यात पर बैन लगा दिया तो वह उस फैसले के खिलाफ भी खड़े हो गए हैं। शशि थरूर के इस दोहरे रवैये को लेकर लोग उन्हें ट्रोल कर रहे हैं और सलाह दे रहे हैं कि कम से कम अपना पहले वाला ट्वीट तो डिलीट कर लेते।

थरूर बोले, सरकार को शर्म से अपना सिर झुका लेना चाहिए
मंगलवार को किए अपने ताजा ट्वीट में उन्होंने WHO की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामिनाथन के बयान का हवाला दिया और मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला। थरूर ने कहा, ‘जब WHO की एक सीनियर वैज्ञानिक और प्रतिष्ठित भारतीय ऐसा कहे कि मोदी सरकार के वैक्सीन निर्यात के फैसले से 91 देशों पर बुरा असर पड़ा है, तो कथित होने वाले ‘विश्वगुरु’ और उनकी सरकार को अपना सिर शर्म से झुका लेना चाहिए।’

WHO की वैज्ञानिक ने क्या कहा था?
डब्ल्यूएचओ की मुख्य वैज्ञानिक डॉ सौम्या स्वामीनाथन ने कहा, ’91 देश वैक्सीन की कमी से प्रभावित हैं। सीरम इंस्टिट्यूट से वैक्सीन की सप्लाई न मिलने से पैरेंट कंपनी ऐस्ट्राजेनेका भी वैक्सीन आगे नहीं दे पा रही है।’ उन्होंने कहा कि ये देश खासतौर पर वायरस के नए और ज्यादा खतरनाक स्ट्रेन बी.1.617.2 से जूझ रहे हैं।

About bheldn

Check Also

‘कांग्रेस-मुक्त भारत’ अभियान में बीजेपी की हमराह बनती क्यों दिख रही हैं ममता

नई दिल्ली पहले अलग-अलग राज्यों में कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं को टीएमसी में शामिल कराना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *