सांसत में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, मांझी के बाद सहनी ने बढ़ाई टेंशन

पटना

बिहार एनडीए में सब कुछ ठीकठाक नहीं चल रहा है। सरकार की सहयोगी पार्टियों की रुख से इन अटकलों को हवा मिलती हैं। जीतनराम मांझी की शुक्रवार को लालू यादव से फोन पर बात हुई और उनके बेटे तेजप्रताप यादव से मुलकात भी हुई। अब वीआईपी पार्टी के प्रमुख मुकेश सहनी ने सरकार की टेंशन बढ़ाने का काम किया है।

मुकेश सहनी ने बिना नाम लिए एनडीए नेताओं को अनावश्यक बयानबाजी की बजाय जनता से किए 19 लाख के रोजगार पर काम करने की सलाह दी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि ‘एनडीए गठबंधन के साथीगणों से अनुरोध है कि अनावश्यक बयानबाजी से बचें एवं हम सब मिलकर बिहार की जनता से किए गए 19 लाख रोजगार के वादे पर काम करें।’

खबर तो यहां तक है कि सहनी ने शुक्रवार को आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव से फोन पर बात की है। जब उनसे इस बारे में पूछा गया तो एक चैनल से बातचीत में उन्होंने कहा कि इसे पर्दे में ही रहने दीजिए। गौर करनेवाली बात है कि शुक्रवार को ही जीतनराम मांझी की लालू यादव से करीब 10 मिनट तक बंद कमरे में बातचीत हुई। लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप ने जीतनराम मांझी से शुक्रवार को ही मुलाकात भी की थी। ये महज संयोग नहीं हो सकता है, बल्कि सोची-समझी रणनीति का हिस्सा भी हो सकता है।

मुकेश सहनी ने कहा कि बहुत से नेता अलग-अलग मुद्दों पर बयान दे रहे हैं जो सही नहीं है। हमने जनता से 19 लाख रोजगार देने का वादा किया है इसलिए वादे के अनुसार हमें उसपर ध्यान देना चाहिए। अगर किसी साथी को ये वादा याद नहीं है तो उन्हें इसे याद दिलाना कोई बड़ी बात नहीं है। वहीं, सहनी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को एक पत्र लिखा है जिसमें जनप्रतिनिधियों को पूर्व की भांति ऐच्छिक कोष की धनराशि खर्च करने की शक्ति प्रदान किए जाने की अपील की है।

About bheldn

Check Also

बेहद तेजी से फैलेगा नया कोरोना! डर से US-कनाडा ने बंद किया दरवाजा

ब्रसेल्स विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक सलाहकार समिति ने दक्षिण अफ्रीका में पहली बार सामने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *