मुजफ्फरपुर में कोरोना जांच के नाम पर ‘खेल’, किट 3550 लेकिन टेस्ट 6000+!

मुजफ्फरपुर

कोरोना की लहर भले ही मुज़फ्फरपुर में थमने लगी है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग के जरिए जांच के नाम पर किये गए फर्जीवाड़े का खेल भी अब उजागर होने लगा है। मुजफ्फरपुर जिले में कोरोना जांच के नाम पर फर्जी आंकड़े दर्ज करने की शिकायतों पर डीएम की ओर से गठित जांच टीम की रिपोर्ट में कई चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं। इस जांच रिपोर्ट के सामने आने के बाद मुज़फ्फरपुर जिले के स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया है।

जारी एंटीजन किट से 7 हजार 144 किट कम मिली
डीएम काे साैंपी गई रिपाेर्ट में प्रखंड वार आंकड़ा चाैंकाने वाला है। औराई, बंदरा, बाेचहां, कांटी, कटरा, कुढ़नी, माेतीपुर, मुराैल, सरैया पीएचसी और सदर अस्पताल काे सेंट्रल ड्रग स्टाेर से जारी एंटीजन किट से 7 हजार 144 किट कम मिली। रिपोर्ट में स्पष्ट किया गया है कि काेराेना जांच के लिए प्राप्त एंटीजन किट का लेखा-जाेखा करने में स्वास्थ्य विभाग ने बड़ी लापरवाही बरती है।

8450 किट से की गई 8668 लोगों की काेराेना जांच
सकरा पीएचसी काे सेंट्रल ड्रग स्टाेर ने 1 मार्च से 31 मई के बीच 7 हजार 350 एंटीजन किट जारी की गईं लेकिन इस अवधि में उसने 8450 एंटीजन किट प्राप्त करने का दावा किया है। हद ताे यह है कि इस अवधि में उसने प्राप्त किट 8450 से 218 अधिक लाेगाें यानी 8668 लोगों की काेराेना जांच कर ली। इतना ही नहीं काेराेना जांच से भी 381 अधिक 9049 लाेगाें का डाटा सेंट्रल पाेर्टल पर अपलाेड कर दिया।

बाेचहां पीएचसी ने 3550 किट से कर ली 6 हजार से ज्यादा लोगों की एंटीजन जांच
बाेचहां पीएचसी में भी कुछ इसी तरह की गड़बड़ी हुई है। सेंट्रल ड्रग स्टाेर ने 1 मार्च से 31 मई के बीच बाेचहां पीएचसी के लिए 4350 एंटीजन किट जारी किया। इस अवधि में उसने 3550 किट प्राप्त करने का दावा किया है। पर, उसने 6 हजार 740 लाेगाें की एंटीजन किट से काेराेना जांच कर ली। अब, सवाल यह कि जब उसके पास 3550 एंटीजन किट उपलब्ध हुअा ताे उसने 6 हजार 740 लाेगाें की जांच कैसे कर ली है।अब इस फर्जीवाड़ा करने वालों पर क्या कार्रवाई होती है देखना दिलचस्प होगा।

About bheldn

Check Also

ओमीक्रोन को लेकर बढ़ी टेंशन, महाराष्ट्र में मिले हाई रिस्क वाले देशों से लौटे 6 कोरोना संक्रमित

मुंबई देश में ओमीक्रोन का अभी कोई मामला सामने नहीं आया है लेकिन फिर भी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *