आपके 24 विधायक कहां लापता हो गए? दल-बदल कानून पर TMC का शुभेंदु पर तंज

नई दिल्ली

पिछले महीने आए पश्चिम बंगाल के चुनाव नतीजों में ममता बनर्जी को नंदीग्राम के संग्राम में मात देने वाले बीजेपी लीडर शुभेंदु अधिकारी पर टीएमसी ने तंज कसा है। शुभेंदु की ओर से जोड़-तोड़ रोकने को दल-बदल विरोधी कानून लागू करने को लेकर टीएमसी ने तंज कसते हुए पूछा है कि पहले यह बताओ कि आपके 24 विधायक कहां हैं। टीएमसी के सांसद बनर्जी ने सोमवार को कहा कि शुभेंदु से दलबदल विरोधी कानून लाने के बारे में सोचने से पहले वह अपनी ही पार्टी के लापता 24 विधायकों पर ध्यान दें। दरअसल शुभेंदु ने सोमवार को पार्टी विधायकों के साथ राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात की थी। इस बैठक में बीजेपी के 74 विधायकों में से सिर्फ 50 ही मौजूद थे। 24 विधायक बैठक में नहीं आए।माना जा रहा है कि कई विधायक पार्टी से खफा हैं और कुछ कुल रॉय के नक्शेकदम पर चलकर टीएमसी में वापसी कर सकते हैं।

बीजेपी के 24 लापता विधायक कहां हैं?
बनर्जी ने हमलावर होते हुए पूछा- बीजेपी के 24 लापता विधायक कहां हैं? पहले उनके खिलाफ दलबदल विरोधी कानून जारी करने की बात करते हैं। सुवेंदु अधिकारी को पहले अपने विधायकों की देखभाल करने की जरूरत है। इसके बाद वह दूसरों के बारे में बात कर सकते हैं। बनर्जी ने एएनआई से कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) केंद्र में सत्ता में है इसलिए शुभेंदु उनसे एक नया कानून लाने के लिए कह सकते हैं क्योंकि यह उनकी अपनी पार्टी है। बनर्जी ने आगे कहा दलबदल विरोधी कानून किसी व्यक्ति का विषय नहीं है। इसे संसद के दोनों सदनों और फिर विधानसभा में पारित करना होता है। यदि भाजपा के विपक्षी नेता एक नया नियम लाना चाहते हैं तो उन्हें केंद्र सरकार से पूछना होगा क्योंकि बीजेपी सत्ता में हैं”।

‘तोड़ना-जोड़ना TMC की राजनीति’
सुवेंदु ने धनखड़ के साथ अपनी बैठक के बाद कहा था कि “तोड़ना-जोड़ना तृणमूल कांग्रेस की राजनीति का हिस्सा है। वे पिछले 10 वर्षों से ऐसा कर रहे हैं और यह निर्विरोध हो गया, लेकिन अब इसका विरोध किया जाएगा और दलबदल विरोधी कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी”।

मुकुल रॉय के जाने से मची हलचल
अधिकारी ने सोमवार को कहा था कि अगर बीजेपी छोड़ टीएमसी में शामिल हुए मुकुल रॉय विधायक पद से इस्तीफा नहीं देते हैं तो वह उनके खिलाफ विधानसभा अध्यक्ष को दल-बदल कानून के तहत कार्रवाई के लिए आवेदन देंगे। मुकुल रॉय पिछले सप्ताह भाजपा छोड़कर तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए थे। उन्होंने भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा और कृष्णानगर उत्तर सीट पर जीत हासिल की थी। अधिकारी ने रॉय का नाम लिए बिना कहा, ‘‘कृष्णानगर उत्तर सीट के विधायक ने पार्टी बदल ली और हमें उम्मीद है कि वह विधानसभा की सदस्यता से भी इस्तीफा देंगे। अगर वह कल तक इस्तीफा नहीं देंगे तो हम हम बुधवार को विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर दल-बदल विरोधी कानून लागू करने की मांग करेंगे।’’

About bheldn

Check Also

ओमीक्रोन को लेकर बढ़ी टेंशन, महाराष्ट्र में मिले हाई रिस्क वाले देशों से लौटे 6 कोरोना संक्रमित

मुंबई देश में ओमीक्रोन का अभी कोई मामला सामने नहीं आया है लेकिन फिर भी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *