भारत में Twitter पर कसने लगा शिकंजा, इम्युनिटी गई, गाजियाबाद में केस

नई दिल्ली

ट्विटर की मुश्किलें भारत में बढ़ सकती हैं। ट्विटर से भारतीय आईटी एक्ट की धारा 79 के तहत मिली सुरक्षा का अधिकार छिनने के साथ ही यूपी के गाजियाबाद में वायरल वीडियो के मामले में एफआईआर दर्ज हो गई है। सुरक्षा का अधिकार हटने के साथ ही किसी यूजर की ओर से ट्विटर पर कोई गैरकानूनी या भड़काऊ पोस्ट किया जाता है तो अब कंपनी के प्रबंध निदेशक समेत शीर्ष अधिकारियों से पुलिस पुलिस पूछताछ कर सकेगी।

गाजियाबाद मामले में पुलिस अब ऐसा कर सकती है। गाजियाबाद जिले में एक बुजुर्ग मुस्लिम व्यक्ति की पिटाई करने और जबरन दाढ़ी काटने के आरोप में पुलिस ने कार्रवाई तेज कर दी है। इस मामले में पुलिस ने ट्विटर और अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सोशल मीडिया पर भ्रामक खबरें फैलाने और धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में गाजियाबाद पुलिस ने 9 नामजद लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

ट्विटर पर आरोप है कि एक वीडियो को प्रचारित किया गया जिसमें एक मुस्लिम को निशाना बनाया गया। उसकी पिटाई की गई और जबरन दाढ़ी काटने का आरोप लगा। ट्विटर भ्रामक खबरों को मैनिपुलेटेड कहता है,लेकिन इस मामले में ऐसा नहीं किया गया। एफआईआर दर्ज होने और ट्विटर से भारतीय आईटी एक्ट की धारा 79 के तहत मिली सुरक्षा का अधिकार छिनने के बाद पुलिस आसानी से अब कंपनी के शीर्ष अधिकारियों से पूछताछ कर सकेगी।

हाल के दिनों में ट्विटर और भारत सरकार के बीच कई बार टकराव देखने को मिला। किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान टकराव के बाद जब अमेरिकी कंपनी ने सत्तारुढ़ दल भाजपा के कई नेताओं के राजनीतिक पोस्ट को मैनिपुलेटेड मीडिया के तौर पर टैग कर दिया जिसपर केंद्र ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। वहीं ट्विटर को संसदीय समिति के समक्ष भी 18 जून को पेश होना है। सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय की स्थायी समिति ने सोशल मीडिया मंचों के दुरुपयोग और नागरिक अधिकारों से संबंधित मुद्दे पर पक्ष रखने के लिए ट्विटर समेत दूसरी कंपनियों को तलब किया है।

About bheldn

Check Also

पाकिस्तानियों की करतूत पर भड़कीं माहिरा खान, PM इमरान से मांगा जवाब

पाक‍िस्तान के सियालकोट में श्रीलंका निवासी एक शख्स की निर्मम हत्या ने हंगामा खड़ा कर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *