यूपी : ड्यूटी पर नहीं आती महिला अधिकारी, फिर भी महीनों से मिल रही सैलरी

बाराबंकी

यूपी के बाराबंकी जिले में विकास भवन में तैनात एक महिला अधिकारी के बिना ड्यूटी के ही वेतन लेने का मामला सामने आया है। गुरुवार को एनबीटी ऑनलाइन की पड़ताल में पता चला कि यहां जिला अर्थ एवं संख्या कार्यालय में तैनात सहायक अर्थ संख्या अधिकारी अंजू अस्थाना करीब एक वर्ष के ज्यादा समय से ड्यूटी से नदारद हैं। फरवरी से विभाग को कोई सूचना नही दी है। वहीं, आरोप है कि अधिकारी को धमकाकर वेतन भी निकलवा रही हैं।

विकास भवन कर्मचारियों की चल रही सेल्फी अटेंडेंस
सीडीओ एकता सिंह ने अफसरों की सौ प्रतिशत हाजिरी के लिए 3 जून से सेल्फी अटेंडेंस अभियान शुरू किया। जिसमें गैरहाजिर कर्मियों का वेतन रोका जा रहा है। वहीं, दूसरी ओर महिला अधिकारी अंजू अस्थाना के बिना ड्यूटी किए वेतन लेने पर सवाल खड़े हो रहे हैं। बताया जा रहा है कि अंजू अस्थाना लगभग वर्ष 2018 से जिले में ज्वाइन करने के बाद से कार्यालय कभी-कभार ही आई हैं।

जिले में 7 सहायक अर्थ एवं संख्या अधिकारी तैनात
जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी मीनाक्षी श्रीवास्तव तांगड़ी ने बताया कि हमारे कार्यालय में 7 अपर अर्थ सांख्यकी अधिकारी हैं। जिसमें सन्दीप सिंह, सुनील वर्मा, श्वेता यादव, प्रवेश, अचेनलाल, अनिल वर्मा हैं। सबसे सीनियर अंजू अस्थाना हैं, जो पिछले 7 से 8 महीनों से कार्यालय नहीं आ रही हैं। शासन स्तर तक उनकी जनवरी तक अवकाश की जानकारी है। मैंने हाल ही में कार्यालय अध्यक्ष पद ग्रहण किया है।

रसूख के चलते निर्गत होती रही सैलरी
अर्थ एवं संख्याधिकारी मीनाक्षी श्रीवास्तव तांगड़ी ने यह भी बताया कि सहायक अर्थ एवं संख्या अधिकारी अंजू अस्थाना के पति डिफेंस में हैं, जिससे उनके फोन कॉल या पत्र पर शासन स्तर से और निदेशालय से आदेश मिलने पर सैलरी निकलवानी पड़ती है।

About bheldn

Check Also

जब सीएम अशोक गहलोत ने कहा-‘किसी को भी सलाहकार बनाऊं, मुझे कौन पूछेगा’

जयपुर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि वह विधायक, सांसद, पत्रकार, साहित्यकार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *