लोजपा नेता ने सांसद पशुपति पर बोला हमला- जिलाध्यक्ष बनने तक की क्षमता नहीं

नालंदा

लोक जनशक्ति पार्टी में राष्ट्रीय अध्यक्ष के दारोमदारी को लेकर चाचा भतीजे (पशुपति पारस और चिराग पासवान) के बीच हुई राजनीतिक लड़ाई का असर नालंदा जिले में भी देखने को मिल रहा है। इसी को लेकर बिहार शरीफ रामचंद्रपुर स्थित लोक जनशक्ति पार्टी कार्यालय में प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया। जिसमें जिला प्रवक्ता सह पूर्व विधानसभा प्रत्याशी रामकेश्वर प्रसाद उर्फ पप्पू ने कहा कि पशुपति कुमार पारस केंद्रीय मंत्री बनने की इच्छा बरसों से पाले हुए थे, लगातार नीतीश कुमार के संपर्क में थे। इसी स्वार्थ में चाचा पशुपति पारस ने भतीजे चिराग पासवान की पीठ में खंजर भोंकने का काम किए हैं।

पशुपति कुमार पारस पर हमला बोलते हुए लोजपा नेता ने कहा कि पशुपति आज अपने आप को संसदीय दल का नेता और लोजपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बता रहे हैं। जबकि हकीकत यह है कि उनमें लोजपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनना तो दूर जिलाध्यक्ष बनने की क्षमता उन नहीं है। कहीं ऐसा संभव है कि सिर्फ और सिर्फ पांच सांसद की रजामंदी से पूरी पार्टी धराशाई हो जाए। राष्ट्रीय अध्यक्ष चुनने का अधिकार राष्ट्रीय कमेटी के सदस्यों को है, इसमें लगभग 75 सदस्य हैं और उन 75 सदस्यों में मात्र 9 सदस्य पारस खेमे में है। ऐसे में दूर-दूर तक संभव नहीं दिखाई देता है कि पशुपति पारस कभी राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर आसीन हो सकते हैं।

विधानसभा चुनाव में लोजपा प्रत्याशी रहे रामकेश्वर प्रसाद ने कहा कि लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय चिराग पासवान कल भी थे, आज भी हैं और कल भी रहेंगे। चिराग पासवान हमेशा पार्टी और परिवार को साथ-साथ लेकर चलने की पुरजोर कोशिश करते रहे हैं। पार्टी के नेता चिराग पासवान के पीछे पूरी पार्टी का संगठन, पूरे देश के तमाम जिलाध्यक्ष, पार्टी के तमाम छोटे से लेकर बड़े पदाधिकारी हैं। चिराग के साथ बिहार ही नहीं पूरे देश की जनता भी इनके साथ है।

पांच सांसद मिलकर पार्टी की एक भी ईंट इधर से उधर नहीं कर सकते
उन्होंने कहा कि इस घटनाक्रम को पूरा आवाम देख रहा है और सभी के मुंह से सिर्फ एक ही आवाज आ रही है कि पशुपति कुमार पारस ने अपने लोभ में आकर, मंत्री बनने की लालसा में आकर जो कदम उठाया है और अपने भतीजे चिराग पासवान की पीठ में खंजर भोंकने का काम किए है, जनता इसके लिए उन्हें कभी माफ नहीं करेगी। नालंदा जिले के तमाम लोजपा कार्यकर्ता सांसद चिराग पासवान के साथ हैं। महज पांच सांसद मिलकर पार्टी की एक भी ईंट इधर से उधर नहीं कर सकते हैं।

About bheldn

Check Also

कार में रखी पानी की बोतल बनी मौत की वजह, इंजीनियर की गई जान

ग्रेटर नोएडा, एक छोटी सी गलती भी कभी कभी इंसान की जान पर भारी पड़ती …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *