स्मृति ईरानी की बढ़ीं मुश्किलें, वर्तिका शूटर मामले में HC ने मंत्री समेत तीन को जारी किया नोटिस

सुलतानपुर

इंटरनेशनल शूटर वर्तिका सिंह को राज्य महिला आयोग में सदस्य बनवाए जाने के एवज में 25 लाख घूस मांगने के केस में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की मुश्किलें बढ़ गई हैं। शुक्रवार को हाई कोर्ट लखनऊ ने वर्तिका सिंह के केस में सुनवाई करते हुए मंत्री, उनके निजी सचिव और सह सहयोगी को नोटिस जारी किया है।

ये है पूरा मामला
बता दें कि 23 दिसंबर 2020 को इंटरनेशनल शूटर वर्तिका सिंह ने सुलतानपुर की एमपी/एमएलए कोर्ट (MP/MLA Court) में 156/3 के तहत परिवाद दाखिल किया था। वर्तिका ने आरोप लगाया था कि राज्य महिला आयोग में सदस्य बनवाने के लिए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (smriti irani) के निजी सचिव विजय गुप्ता और उनके सह सहयोगी अयोध्या के रहने वाले डॉ. रजनीश सिंह ने 25 लाख रुपये घूस मांगी थी। इस मामले में एमपी/एमएलए कोर्ट में सुनवाई हुई और 20 फरवरी को कोर्ट ने साक्ष्य के अभाव में दायर परिवाद को खारिज कर दिया था।

26 जुलाई को हाईकोर्ट करेगी सुनवाई
इसके बाद सुलतानपुर दीवानी न्यायालय में फौजदारी के वरिष्ठ अधिवक्ता अरविंद सिंह राजा ने एमपी/एमएलए कोर्ट से खारिज हुई रिट को हाई कोर्ट लखनऊ में चुनौती दी और रिवीजन फाइल किया। शुक्रवार को हाई कोर्ट ने सुनवाई करते हुए 26 जुलाई को सभी आरोपितों को अपना बयान दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं। वर्तिका सिंह के अधिवक्ता अरविंद सिंह राजा ने बताया की हाई कोर्ट ने पूरे मामले को गंभीरता से लिया है। हमने कोर्ट को समस्त साक्ष्य उपलब्ध कराए हैं। इसमें केंद्रीय मंत्री की ऑडियो रिकार्डिंग भी कोर्ट में दी गई है।

वर्तिका सिंह पर पूर्व में हुई थी ये कार्रवाई
बता दें कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के निजी सचिव विजय गुप्ता की तहरीर पर 23 नवंबर 2020 को अमेठी के मुसाफिरखाना कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया था। जब वर्तिका ने कोर्ट की शरण ली तो उसके विरुद्ध एक अन्य मामला अमेठी के मुंशीगंज थाने में कराया गया।

About bheldn

Check Also

प्रयागराज हत्याकांडः मां और नाबालिग बेटी दोनों की हत्या से पहले रेप

प्रयागराज प्रयागराज के फाफामऊ में दलित परिवार के चार लोगों की हत्या से पहले किस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *