विप्रो ने साल में दूसरी बार 80 फीसदी कर्मचारियों की सैलरी में किया इजाफा

नई दिल्‍ली

दिग्‍गज आईटी कंपनी विप्रो ने असिस्‍टेंट मैनेजर्स और नीचे के पद के कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाने का ऐलान किया है। जोकि एक सितंबर से लागू होगी। इस ऐलान का फायदा कंपनी के 80 फीसदी कर्मचारियों को होगा। कंपनी ने जनवरी के बाद दूसरी बार कंपनी कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाने का ऐलान किया है। आपको बता दें क‍ि कुछ दिन पहले टीसीएस ने भी अप्रैल से कर्मचारियों की बढ़ाने का ऐलान किया था।

कंपनी के अनुसार लगभग 80 फीसदी कर्मचारियों के वेतन में वृद्धि की घोषणा की, जो 1 सितंबर, 2021 से लागू होगी। कंपनी के अनुसार वह 1 सितंबर, 2021 से प्रभावी बैंड बी3 (असिस्‍टेंट मैजर और नीचे) तक के सभी योग्य कर्मचारियों के लिए मेरिट सैलरी इंक्रीज (एमएसआई) शुरू करेगी। ये बैंड कंपनी के वर्क फोर्स का 80 फीसदी हिस्सा हैं।

इस कैलेंडर वर्ष में कर्मचारियों के लिए यह दूसरी वेतन वृद्धि होगी। कंपनी ने पहले जनवरी, 2021 में इन बैंड में योग्य कर्मचारियों के लिए वेतन वृद्धि की घोषणा की थी। विप्रो ने यह भी घोषणा की है कि बैंड सी1 (मैनेजर्स और ऊपर) से ऊपर के सभी पात्र कर्मचारियों को 1 जून से प्रभावी वेतन वृद्धि प्राप्त होगी।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि ऑफशोर कर्मचारियों के लिए वेतन वृद्धि उच्च एकल अंकों में होगी, ऑनसाइट कर्मचारियों के लिए मध्य–एकल अंकों में होगी। कंपनी शीर्ष प्रदर्शन करने वालों को काफी अधिक वृद्धि के साथ पुरस्कृत करेगी। 1 अप्रैल, 2021 से प्रभावी इस वित्तीय वर्ष के लिए वृद्धि की घोषणा करने वाली विप्रो की बड़ी सहकर्मी टीसीएस पहली थी।

वहीं दूसरी ओर नैसकॉम की रिपोर्ट के अनुसार देश की आईटी कंपनियों ने वित्त वर्ष 2021 में 1लाख 38 हजार लोगों को रोजगार दिया है। जबकि वित्त वर्ष 2021-22 में 96 हजार से ज्यादा नियुक्तियों की मजबूत योजना भी तैयार की है। आपको बता दें क‍ि विप्रो देश की टॉप आईटी कंपनियों में से एक है। जिसकी शुरूआत देश के सबसे बड़े दानवीरों में से एक अजीम प्रेमजी ने की थी। विप्रो अपने कर्मचारियों के लिए हमेशा परोपकार भरे फैसले लेता रहता है।

About bheldn

Check Also

चुनाव जीतने को फ्री-फ्री के ऑफर्स और निकल जाती है इकॉनमी की चीख, ऐसे नेताओं का क्या करें?

नई दिल्ली भारत में जब भी चुनाव जीतने की बात आती है, राजनीतिक दल इकनोमी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *