बाइडन-पुतिन मुलाकात का दिखा पहला असर, रूस के राजदूत अमेरिका के लिए रवाना

मॉस्को

जो बाइडन और व्लादिमीर पुतिन के बीच हुई बैठक के दौरान बनी सहमति के बाद रूस के राजदूत अमेरिका लौट रहे हैं। इससे तीन महीने पहले अमेरिका और रूस के मध्य बढ़ते तनाव के बीच उन्हें वापस बुला लिया गया था। पुतिन और बाइडन पिछले हफ्ते जिनेवा में हुए शिखर सम्मेलन में इस बात पर सहमत हुए थे कि रूसी राजदूत अनातोली एंतोनोव अमेरिका वापस जाएंगे। इसी तरह अमेरिकी राजदूत जॉन सुलिवान वापस रूस आएंगे, जो अप्रैल में मॉस्को से चले गए थे।

न्यूयॉर्क रवाना हुए एंतोनोव
एंतोनोव रविवार को एयरोफ्लोट की उड़ान से न्यूयॉर्क रवाना हो गए, जहां से वह अमेरिकी राजधानी वाशिंगटन जाएंगे। हालांकि, अभी उस तारीख की घोषणा नहीं की गई है, जब सुलिवान मॉस्को आएंगे। बाइडन ने टीवी साक्षात्कार में आरोप लगाया था कि पुतिन एक हत्यारे हैं। इसके बाद एंतोनोव को वापस बुला लिया गया था और सुलिवान से देश छोड़ने के लिए कहा गया था।

सीरिया पर भी दोनों नेताओं में हुई थी बात
जो बाइडन ने व्लादिमीर पुतिन से सीरिया के मुद्दे पर भी बात की थी। बाइडन ने सीरिया में अंतरराष्ट्रीय मानवीय सहायता पहुंचाने के अंतिम बिन्दु को बंद करने के प्रयास छोड़ने को कहा था। बहरहाल, इसे खुला रखने पर कोई समझौता नहीं हुआ। रूस उस मार्ग को बंद करने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में वीटो का इस्तेमाल करने की धमकी दे रहा है जिससे सीरिया में गृहयुद्ध से आंतरिक रूप से विस्थापित हुए लाखों सीरियाई नागरिकों को सहायता पहुंचाई जाती है।

बाइडन ने दो महाशक्तियों की बैठक बताया था
इस अवसर को बाइडन ने दो महान शक्तियों की बैठक बताया था। बैठक की शुरुआत में दोनों नेताओं ने आपस में हाथ मिलाया। बाइडन ने पहले हाथ आगे बढ़ाया और पुतिन की तरफ मुस्कराए। इसके बाद दोनों नेताओं ने स्विट्जरलैंड के राष्ट्रपति गाई पारमेलिन के साथ तस्वीर खिंचवाई जिन्होंने दोनों नेताओं का स्वागत किया।

About bheldn

Check Also

ओमिक्रॉन का कहर, पुर्तगाल में फुटबॉलर पॉजिटिव, वैक्सीनेटेड भी चपेट में

नई दिल्‍ली, कोरोनावायरस के दक्षिण अफ्रीका में पाए गए ओमिक्रॉन वैरिएंट ने तांडव मचा दिया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *