“राष्ट्र का झंडा” बुलंद करने वाले PM मोदी को नहीं फॉलो करते RSS के दिग्गज नेता, एक्टिव भी नहीं रहते

नई दिल्ली

सोशल मीडिया पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के नेता भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेताओं की तरह सक्रिय नहीं हैं। आरएसएस के कई बड़े प्रचारकों का ट्विटर पर अकाउंट है। लेकिन इनमें से ज़्यादातर लोग ज्यादा एक्टिव नहीं रहते। इतना ही नहीं ज़्यादातर प्रचारक “राष्ट्र का झंडा” बुलंद करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी फॉलो नहीं करते।

संघ प्रमुख मोहन भागवत भी ट्विटर पर पिछले दो साल से मौजूद हैं, लेकिन उन्होंने अपने अकाउंट से आज तक कोई ट्वीट नहीं किया है। मोहन भागवत आरएसएस के हैंडल को छोड़कर किसी को फॉलो भी नहीं करते हैं। वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी नहीं फॉलो करते। आरएसएस का आधिकारिक ट्विटर हैंडल किसी को भी फॉलो नहीं करता। आरएसएस के 2.3 मिलियन यानी 23 लाख फॉलोअर हैं।

आरएसएस के प्रचारक दत्तात्रेय होसबोले को 53 हजार से ज्यादा लोग फॉलो करते हैं, लेकिन वे किसी को भी फॉलो नहीं करते हैं। यहां तक कि आरएसएस के ट्विटर अकाउंट को भी नहीं। आरएसएस में में संघ प्रमुख और सरकार्यवाह के बाद सह सरकार्यवाह का नंबर आता है।

मौजूदा समय में मनमोहन वैद्य, कृष्ण गोपाल, अरुण कुमार, मुकुंद सीआर और राम दत्त चक्रधर पांच सह सरकार्यवाह हैं। इनमें से चार के अकाउंट ट्विटर पर हैं। राम दत्त चक्रधर ट्विटर पर नहीं हैं। कोई बड़ा नेता इनकी फॉलो लिस्ट में नहीं है। सिर्फ सह सरकार्यवाह मुकुंद सीआर अपवाद हैं। वे 932 लोगों को फॉलो करते हैं। जिनमें प्रधानमंत्री मोदी समेत भाजपा के कई बड़े नेता शामिल हैं।

इसके अलावा फेसबुक पर संघ के पेज को 55,13,975 लोग फॉलो करते हैं, जबकि 54,76,251 ने इस पेज को लाइक किया है। हालांकि संघ का फेसबुक पेज भी बहुत सक्रिय नहीं है। इस पेज से अंतिम बार इस साल 12 जून को गुजरात के वरिष्ठ कार्यकर्ता अमृत भाई कडीवाला के निधन पर संघ प्रमुख मोहन भागवत की तरफ से श्रद्धांजलि पोस्ट की गई थी। इस पेज पर औसतन दस से पंद्रह दिनों के बीच कोई पोस्ट आती है।वहीं संघ का इंस्टाग्राम पर अकाउंट भी है। इस अकाउंट से भी किसी को फॉलो नहीं किया जाता है। जबकि 1.98 लाख लोग आरएसएस के इंस्टाग्राम अकाउंट को फॉलो करते हैं।

About bheldn

Check Also

Omicron के इस संकेत से चिंतित दक्षिण अफ्रीका के वैज्ञानिक, जारी की नई चेतावनी

नई दिल्ली, कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron variant) की दहशत पूरी दुनिया में फैल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *