अयोध्या के बाद ओली ने योग को बताया नेपाल की देन, कहा- भारत तब था ही नहीं

काठमांडू

असली अयोध्या नेपाल में बताने वाले पड़ोसी देश के केयरटेकर प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने अब दावा किया है कि योग नेपाल में जन्मा था। उन्होंने यहां तक कहा है कि जब योग शुरू हुआ तब भारत था ही नहीं। ओली ने यह बयान अपने आवास पर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए दिया। इससे पहले ओली ने भारत की अयोध्या को नकली बताते हुए असली बीरगंज के पास होने का दावा किया था।

ओली ने कहा है कि योग नेपाल में शुरू हुआ, भारत में नहीं है। जब योग शुरू हुआ तब भारत का अस्तित्व नहीं था। यह कई टुकड़ों में बंटा हुआ था। ओली ने यह भी दावा किया कि भारतीय एक्सपर्ट इस बारे में तथ्यों को छिपा रहे हैं। वहीं, ओली पर अपने देश में इस बात के आरोप लगते रहे हैं कि वह भारत के साथ विवाद छेड़कर अपनी सरकार की विफलता को छिपाने की कोशिश करते हैं।

अयोध्या को बताया था नकली
इससे पहले जुलाई 2020 में ओली ने दावा किया था कि भारत की अयोध्या नकली है और नेपाल के बीरगंज के पास असली अयोध्या है। बिना किसी ऐतिहासिक प्रमाण के ओली ने दावा किया था कि हमने भारत में स्थित अयोध्या के राजकुमार को सीता नहीं दी बल्कि नेपाल के अयोध्या के राजकुमार को दी थी। अयोध्या एक गांव हैं जो बीरगंज के थोड़ा पश्चिम में स्थित है। भारत में बनाई गई अयोध्या वास्तविक नहीं है।

ओली ने तब तर्क दिया था कि अगर भारत की अयोध्या वास्तविक है तो वहां से राजकुमार शादी के लिए जनकपुर कैसे आ सकते हैं। उन्होंने दावा किया कि विज्ञान और ज्ञान की उत्पत्ति और विकास नेपाल में हुआ। उन्होंने दावा किया था कि ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़ा मरोड़ा गया है।

About bheldn

Check Also

दिमाग ठीक कर ले भारत सरकार, 26 जनवरी दूर नहीं; MSP पर टिकैत की धमकी

मुंबई भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने एक बार फिर मोदी सरकार को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *