ममता ने मुझे मैसेज किया और कहा पीएम से नहीं मिलूंगी- राज्यपाल जगदीप धनखड़ का खुलासा

नई दिल्ली

बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ और ममता बनर्जी के बीच विवादों के चर्चे लगातार होते रहते हैं। हाल ही में यास तूफान के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक को लेकर भी केंद्र और राज्य सरकार के बीच विवाद देखने को मिला था। इंडियन एक्सप्रेस के साथ बात करते हुए राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि ममता ने मुझे रात 11.16 बजे मैसेज किया और कहा पीएम से नहीं मिलूंगी। साथ ही राज्यपाल ने कहा कि सुबह एक मिनट में जो हुआ वो देख मैं हैरान रह गया था।

राज्यपाल ने कहा कि 29 मई को अखबारों में खबर आई थी कि ममता बनर्जी की पीएम से आमने-सामने की बैठक हुई है। लेकिन ऐसी कोई बैठक नहीं हुई थी, जो हुआ वह एक मिनट से भी कम समय का था। बैठक से एक दिन पहले रात 11.16 बजे ममता बनर्जी ने मुझे मैसेज किया था कि मैं बैठक में शामिल नहीं होऊंगी… क्योंकि सुवेंदु अधिकारी वहां हैं। मैंने उनसे कहा कि वह विपक्ष के नेता हैं।

मैंने अगली सुबह उन्हें फोन किया, कहा कि आप बहिष्कार न करें, यह बैठक हमारे लिए, संविधान के लिए, कानून के शासन के लिए, राज्य के लिए अच्छा होगा।राज्यपाल ने कहा कि देश के पीएम के पद से समझौता नहीं किया जा सकता है।दिल्ली में मानवाधिकार आयोग के प्रमुख से मुलाकात के मुद्दे पर धनखड़ ने कहा कि मानवाधिकार के मुद्दे पश्चिम बंगाल राज्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि मैं जस्टिस (अरुण) मिश्रा को काफी दिनों से जानता हूं।

बताते चलें कि पश्चिम बंगाल के गवर्नर जगदीप धनखड़ और ममता बनर्जी के बीच कई मुद्दों पर विवाद जारी है। हाल ही में गवर्नर द्वारा ममता बनर्जी को लिखी एक चिट्ठी के सार्वजनिक हो जाने के बाद सूबे की राजनीति में नई हलचल पैदा हो गयी थी। दरअसल, गवर्नर ने एक चिट्ठी ममता सरकार को लिखी थी, लेकिन इसे मीडिया के लिए भी जारी कर दिया गया था। उसके बाद ये खत सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसमें धनखड़ ने सरकार से कहा था कि वो इस दिशा में जरूरी कदम उठाए।

About bheldn

Check Also

ओमीक्रोन को लेकर बढ़ी टेंशन, महाराष्ट्र में मिले हाई रिस्क वाले देशों से लौटे 6 कोरोना संक्रमित

मुंबई देश में ओमीक्रोन का अभी कोई मामला सामने नहीं आया है लेकिन फिर भी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *