क्या कोरोना की तीसरी लहर को रोका जा सकता है? डॉ. पाल ने दिया स्पष्ट जवाब

नई दिल्ली

नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉक्टर वीके पॉल ने मंगलवार को कहा कि कोरोना महामारी की तीसरी लहर को नाकाम करना लोगों के हाथ में है। उन्होंने कहा कि अगर कोविड एप्रोप्रिएट बिहैवियर (कोरोना रोकने के उचित व्यवहार) का पालन और और अधिकांश लोग टीका लगवाते हैं, तो इसे रोका जा सकता है।

डॉक्टर पॉल की यह टिप्पणी संशोधित कोविड-19 टीकाकरण नीति के कार्यान्वयन की शुरूआत के साथ सोमवार मध्यरात्रि तक देश भर में कोरोना वैक्सीन की रेकॉर्ड 85 लाख खुराक लगाए जाने के एक दिन बाद आई है। नई वैक्सीनेशन पॉलिसी के तहत केंद्र घरेलू स्तर पर उपलब्ध टीकों का 75 प्रतिशत खरीद रहा है।

पॉल ने कहा कि पहले दिन टीकाकरण के आंकड़े बड़े पैमाने पर दिनों और हफ्तों तक एक साथ टीकाकरण करने की भारत की क्षमता को दिखाते हैं। पॉल ने कहा, ‘यह सब केंद्र और राज्य सरकारों के बीच योजना और समन्वय और मिशन मोड में कार्य को पूरा करने के कारण संभव हुआ।’

संभावित तीसरी लहर के बारे में बताते हुए, पॉल ने कहा, ‘तीसरी लहर आती है या नहीं यह हमारे हाथ में है।’ स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, ‘अगर हम कोविड के उचित व्यवहार का पालन करते हैं और खुद को टीका लगवाते हैं तो तीसरी लहर क्यों होगी? ऐसे कई देश हैं जहां दूसरी लहर भी नहीं आई है। अगर हम कोविड के उचित व्यवहार का पालन करते हैं, तो यह अवधि बीत जाएगी।’

पॉल ने याद दिलाया कि ‘अगर कोविड के उचित व्यवहार का पालन किया जाता है, और अधिकांश लोगों को टीका लगाया जाता है, तो तीसरी लहर को रोका जा सकता है।’ नीति आयोग के सदस्य ने भारत को अपनी अर्थव्यवस्था को खोलने और सामान्य काम फिर से शुरू करने में सक्षम बनाने के लिए तेजी से टीकाकरण के महत्व पर जोर दिया और सामान्य स्थिति में वापस जाने की चाबी के रूप में तेजी से टीकाकरण पर जोर दिया।

पॉल ने कहा, ‘हमें अपना दैनिक कार्य करने, अपने सामाजिक जीवन को बनाए रखने, स्कूल खोलने, व्यवसाय खोलने, अपनी अर्थव्यवस्था की देखभाल करने की आवश्यकता है, हम यह सब तभी कर पाएंगे जब हम तेज गति से टीकाकरण कर पाएंगे।’ उन्होंने कहा, ‘टीके जीवन बचा रहे हैं, अब वैक्सीन लेने का सबसे अच्छा समय है।’

नीति आयोग के सदस्य ने भी कोविड -19 टीकों के खिलाफ अफवाहों को खारिज करते हुए कहा, ‘यह सोचना एक बड़ी गलती है कि हमारे टीके असुरक्षित हैं। दुनिया के सभी टीकों को हमारे टीकों की तरह ही आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण के तहत अनुमोदित किया गया है। समाज के तमाम वर्गों के लोगों ने इन्हें लिया है। दूसरी लहर अब कम हो गई है और यह कोविड -19 वैक्सीन लेने का सबसे अच्छा समय है।’

About bheldn

Check Also

वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ की हालत अत्यंत नाजुक , ICU में भर्ती

नयी दिल्ली वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ इस समय सघन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में भर्ती हैं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *