नई गाइडलाइन के दूसरे दिन सुस्त हुई वैक्सीनेशन की रफ्तार, 51 लाख लोगों को लगा टीका

नई दिल्ली,

देश में कोरोना वैक्सीनेशन की रफ्तार को तेज करने के लिए नीति में बदलाव कर सोमवार से वैक्सीनेशन अभियान दोबारा चलाया गया. पहले दिन इस अभियान का असर दिखा और देश में रिकॉर्ड 84 लाख से ज्यादा डोज लगाए गए. हालांकि एक दिन बाद ही यह रफ्तार फिर से सुस्त हो गई. अभियान के दूसरे ही दिन पूरे देश में मात्र 51 लाख लोगों को ही वैक्सीन लगाई जा सकी है. जबकि केंद्र सरकार देश के हर नागरिकों को फ्री में टीका उपलब्ध करवाने का दावा कर रही है.

कुछ दिनों पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके बारे में घोषणा करते हुए कहा था कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के दिन से टीकाकरण की गति को तेज कर दिया गया है. केंद्र सरकार ने वैक्सीनेशन उत्पादन में से 75 फीसदी हिस्सा खुद खरीदने का फैसला किया है, जबकि 25 फीसदी टीका प्राइवेट अस्पतालों द्वारा खरीदा जा सकेगा.

कोरोना महामारी को देश में आए एक साल से अधिक हो गया है. अब तक साढ़े तीन लाख से ज्यादा लोगों की कोविड के चलते मौत हो चुकी है. टीकाकरण अभियान देश में इस साल जनवरी में शुरू किया गया था. शुरुआती समय में हेल्थ वर्कर्स और फिर फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाए जाने के बाद बुजुर्गों को टीका लगाया जाने लगा.इसके बाद 45 साल से अधिक उम्र वाले लोगों का नंबर आया और कोरोना की दूसरी लहर आने के दौरान 18 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों के टीकाकरण करने का ऐलान किया गया.

21 जून से केंद्र सरकार ने टीकाकरण की जिम्मेदारी अपने हाथों में ली. केंद्र सरकार ने कहा कि वह इसे खुद खरीदकर राज्य सरकार को देगी, जबकि पहले राज्यों को भी टीका खरीदने के लिए कहा गया था. सोमवार को टीकाकरण अभियान काफी तेजी से चला और पहले ही दिन देश ने टीका लगाने का रिकॉर्ड बना लिया. कुल 84 लाख वैक्सीन की डोज लगाई गई.टीकाकरण का रिकॉर्ड बनने पर प्रधानमंत्री मोदी ने खुशी जताते हुए वेलडन इंडिया भी कहा. लेकिन दूसरे ही दिन वैक्सीनेशन की रफ्तार में भारी गिरावट आ गई. हालांकि यह गिरावट किस वजह से आई है फिलहाल स्पष्ट नहीं है.

About bheldn

Check Also

अब तक का सबसे खतरनाक है कोरोना का नया वेरिएंट? AIIMS के डॉक्‍टर ने बताया बचाव का क्या होगा तरीका

नई दिल्‍ली कोरोना के नए वेरिएंट की खबरें आने के बाद लोगों की टेंशन बढ़ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *