कोरोना के जन्‍म को लेकर घिरी वुहान लैब, चीन देगा शीर्ष वैज्ञानिक पुरस्‍कार, ‘बैट वूमेन’ की तारीफ

पेइचिंग

कोरोना वायरस के जन्‍म को लेकर घ‍िरी वुहान लैब को चीन महामारी के दिनों में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए शीर्ष वैज्ञानिक पुरस्‍कार देने जा रहा है। चीन कोरोना वायरस के लीक होने के आरोपों का सामना कर रही वुहान लैब को चाइना एकैडमी ऑफ साइंस की ओर से विज्ञान और तकनीक उपलब्धि पुरस्‍कार से दिया जाएगा। यही नहीं चीन में बैट वूमेन के नाम से मशहूर वैज्ञानिक शी झेंगली के काम की भी विशेष तारीफ की गई है।

शी झेंगली वुहान लैब में पशुओं पर शोध का नेतृत्‍व करती हैं। चाइना अकादम ऑफ साइंस ने कहा कि वुहान लैब के शोधकर्ताओं के दल ने कोरोना वायरस महामारी के कारणों की व्‍यापक और व्‍यवस्थित तरीके से जांच की। इसके परिणामों के फलस्‍वरूप कोरोना वायरस के खिलाफ दवाओं और वैक्‍सीन को बनाने का रास्‍ता साफ हुआ। साथ ही वुहान लैब ने महामारी के प्रसार को रोकने और बचाव के लिए महत्‍वपूर्ण वैज्ञानिक और तकनीकी समर्थन मुहैया कराया।

वुहान लैब में पिंजरे के अंदर चमगादड़ों को रखा जाता था
वुहान लैब को ऐसे समय में शीर्ष वैज्ञानिक पुरस्‍कार देने का ऐलान हुआ है जब वह कोरोना के लीक होने को लेकर बुरी तरह से घिरी हुई है। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि यह वायरस वुहान लैब से लीक होकर वहीं से कुछ ही दूरी पर‍ स्थित वुहान वेट मार्केट पहुंच गया। यही पर कोरोना महामारी की सबसे पहले पहचान हुई थी। यही नहीं चीन की वुहान लैब में पिंजरे के अंदर चमगादड़ों को रखा जाता था। वुहान लैब से पहली बार सामने आई तस्‍वीरों में यह खुलासा हुआ है।

वुहान लैब की इन तस्‍वीरों ने विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) के उस दावे खारिज कर दिया है जिसमें उसने कोरोना के वुहान लैब से निकलने के संदेह को ‘षडयंत्र’ करार दिया था। चाइना अकादमी ऑफ साइंस के मई 2017 के आधिकारिक वीडियो में चमगादड़ों को पिंजड़े में कैद करके रखा दिखाया गया था। इस वीडियो को वुहान लैब में नए बॉयोसेफ्टी लेवल 4 के हिसाब से सुरक्षा शुरू होने पर जारी किया गया था। इसमें हादसा होने की सूरत में सुरक्षा मानकों को लेकर बताया गया था। इसमें लैब के निर्माण को लेकर फ्रांसीसी सरकार के साथ काफी विवाद के बारे में भी बताया गया था।

चमगादड़ों को कीड़े खिलाते नजर आ रहे वैज्ञानिक
वीडियो में यह भी नजर आ रहा है कि वैज्ञानिक चमगादड़ों को कीड़े खिलाते नजर आ रहे हैं। इस 10 मिनट के वीडियो को पूरी तरह से वुहान लैब के निर्माण पर केंद्र‍ित किया गया है। इसमें कई वैज्ञानिकों के साक्षात्‍कार भी दिखाए गए हैं। इससे पहले डब्‍ल्‍यूएचओ ने अपनी कोरोना की उत्‍पत्ति की जांच रिपोर्ट में यह नहीं बताया था कि वुहान लैब में चमगादड़ों को रखा जाता था। जांच रिपोर्ट में सिर्फ इतना ही कहा था कि पशुओं को वुहान लैब में रखा जाता था।

About bheldn

Check Also

चीन को लेकर सुब्रमण्यम स्वामी का क्या था सवाल? जिसको राज्यसभा ने कर दिया रिजेक्ट

नई दिल्ली राज्यसभा सदस्य एवं भारतीय जनता पार्टी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने बुधवार को दावा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *