कोरोना: डेल्टा+ से MP में पहली मौत की पुष्टि, अब तक सामने आए 5 मामले

उज्जैन,

मध्यप्रदेश में कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट से मौत का पहला मामला सामने आया है. उज्जैन की एक महिला की कोरोना से मौत के बाद उनका सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए दिल्ली भेजा गया था जिसकी रिपोर्ट में डेल्टा प्लस वैरिएंट की पुष्टि हो गई है. मध्यप्रदेश में डेल्टा प्लस वैरिएंट के अब तक कुल 5 मामले सामने आ चुके हैं. इनमे से तीन मामले भोपाल के हैं तो वहीं 2 मामले उज्जैन के हैं. इनमे से चार लोग तो ठीक हो गए हैं, लेकिन एक की मौत हो गई है.

‘आजतक’ से बात करते हुए उज्जैन संभाग के कोरोना नोडल ऑफिसर डॉक्टर रौनक ने बताया कि ‘भोपाल से रिपोर्ट आई थी कि उज्जैन के 2 सैंपल में डेल्टा प्लस वैरिएंट पाया गया है. जब हमने इसकी ट्रेसिंग शुरू की तो पाया कि 23 मई को ही इस महिला की मौत हो चुकी है. इनके घर में पहले पति कोरोना संक्रमित हुए थे जिसके बाद महिला संक्रमित हुई और बाद में उनकी मौत हो गई थी. जांच के दौरान पता चला कि दो में से एक मरीज़ ने कोरोना की वैक्सीन लगवा रखी थी जबकि जिस महिला का निधन हुआ उन्होंने वैक्सीन नहीं लगवाई थी.’

मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि ‘सरकार मामले पर नज़र बनाये हुए है. जिनमें डेल्टा वैरिएंट की पुष्टि हुई थी, उनकी कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग करवा ली गई है और सभी की रिपोर्ट भी नेगेटिव है. फिर भी सरकार ने सभी अस्पतालों को अलर्ट पर रखा है. टेस्टिंग और जीनोम सिक्वेंसिंग हम बड़े पैमाने पर करवा रहे हैं ताकि मामला जल्द से जल्द पकड़ में आ सके.’

उन्होंने आगे कहा, ‘देखने लायक बात ये है कि मध्यप्रदेश में जिन लोगों में डेल्टा प्लस वैरिएंट पाया गया उनमें से चार वो लोग थे जिन्होंने कोरोना वैक्सीन लगवा रखी थी. चारों अब पूरी तरह स्वस्थ हैं जबकि सिर्फ उनकी मौत हुई जिन्होंने वैक्सीन नहीं लगवाई थी. इसलिए हम सब से यही निवेदन करेंगे कि वो वैक्सीन जरूर लगवाएं’.

About bheldn

Check Also

कोरोना का ‘जानलेवा’ असर, 2 सालों में 20 हजार से भी अधिक कारोबारियों ने की आत्महत्या!

नई दिल्ली सरकार ने बताया कि राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की रिपोर्ट के अनुसार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *