सीमा पर BSF ने ढेर किया पाकिस्तानी ड्रग स्मगलर, 135 करोड़ की हेरोइन बरामद

जम्मू

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास बुधवार को ड्रग्स की तस्करी करने के एक प्रयास को नाकाम करते हुए एक पाकिस्तानी घुसपैठिए को मार गिराया। अधिकारियों ने बताया कि इलाके में तलाशी अभियान के दौरान बीएसएफ ने 27 पैकेट हेरोइन बरामद की है, जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत लगभग 135 करोड़ रुपये है। आईजी बीएसएफ एन एस जामवाल ने कहा कि वे इस घटना पर पूरे सबूत के साथ पाकिस्तानी सेना के समक्ष कड़ा विरोध दर्ज कर रहे हैं।

पंसार सीमा चौकी क्षेत्र में जब्त किये गये मादक पदार्थों का निरीक्षण करने के बाद आईजी ने मीडिया से कहा कि कुछ समय से हमें कठुआ सीमा के माध्यम से नशीले पदार्थों की तस्करी के (पाकिस्तान से) संभावित प्रयासों के बारे में सूचना मिल रही थी। अग्रिम इलाकों में तैनात हमारे जवानों ने रात 2.30 से तीन बजे के बीच तीन से चार लोगों की आवाजाही देखी। अधिकारी ने कहा कि तस्कर सीमा बाड़ के पास पहुंच गए और इसके बाद सुरक्षा बलों ने उन्हें ललकारा।

150 मीटर लंबी सुरंग भी मिली
बीएसएफ के महानिरीक्षक ने बताया कि तस्करों ने चेतावनी को नजरअंदाज कर दिया और सैनिकों ने घुसपैठियों के बीच में से किसी के द्वारा हथियार उठाने की आवाज सुनी। जवानों ने गोलीबारी की जिसमें एक तस्कर मारा गया। इसके बाद सुबह तलाशी के दौरान उसका शव मिला और साथ ही 27 किलोग्राम हेरोइन भी बरामद की गई। उन्होंने बताया कि 23 जनवरी को बीएसएफ को 150 मीटर की एक भूमिगत सुरंग का पता चला था, जिसे पंसार क्षेत्र में विध्वंसक गतिविधियों को अंजाम देने के लिए पाकिस्तान से आतंकवादियों की घुसपैठ में मदद देने के वास्ते बनाया गया था।

नहीं बरामद हुए हथियार
उन्होंने कहा कि हेरोइन को कपड़े में बांधकर एक किलो के पैकेट में पैक किया गया था, जिससे पता चलता है कि तस्कर खेप को एक पाइप के माध्यम से धकेलने की साजिश बना रहे थे और भारतीय हिस्से की ओर कोई इसे लेता। यह पूछे जाने पर कि क्या कोई हथियार बरामद हुआ है, जामवाल ने कहा कि अभियान के दौरान कोई हथियार जब्त नहीं किया गया और ऐसा संदेह है कि मारे गए तस्कर के साथी वापस भागते समय हथियार ले गए होंगे।

About bheldn

Check Also

प्रयागराज हत्याकांडः मां और नाबालिग बेटी दोनों की हत्या से पहले रेप

प्रयागराज प्रयागराज के फाफामऊ में दलित परिवार के चार लोगों की हत्या से पहले किस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *