पंजाब के बाद अब हरियाणा और कर्नाटक में झगड़ा.. कांग्रेस में यह क्या हो रहा?

चंडीगढ़

पंजाब के बाद अब हरियाणा कांग्रेस के भी आंतरिक संगठन में मतभेद के स्वर उठने लगे हैं। हरियाणा में पूर्व सीएम भूपेेंद्र सिंह हुड्डा के समर्थक विधायकों ने प्रदेश अध्यक्ष कुमारी शैलजा के साथ काम करने में असमर्थता जताई है। शैलजा के खिलाफ विधायकों का यह गुट कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल से मुलाकात करने वाला है।

हु़ड्डा समर्थकों का कहना है कि शैलजा को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाना चाहिए, क्योंकि पार्टी को एक मजबूत नेतृत्व की जरूरत है। पंजाब और हरियाणा के अलावा राजस्थान से लेकर कर्नाटक तक में पार्टी के अलग-अलग गुट एक दूसरे के आमने सामने खड़े दिखाई देने लगे हैं।

नेतृत्व के सामने शक्ति प्रदर्शन की कोशिश में हुड्डा समर्थक विधायकों का कहना है कि ओमप्रकाश चौटाला की रिहाई और कांग्रेस के कमजोर संगठन को देखते हुए चुनावों केस लिए कुशल रणनीति की जरूरत होगी। इसके लिए प्रदेश अध्यक्ष को बदलने की जरूरत है।

हुड्डा को प्रदेश अध्यक्ष बनाने की मांग
इन विधायकों ने प्रदेश अध्यक्ष पद पर भूपेेंद्र सिंह हुड्डा को बैठाने की मांग की है। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि अगर हुड्डा के पास नेतृत्व नहीं होता है तो ये स्थिति पार्टी के लिए मुश्किल पैदा कर सकती है।

प्रदेश प्रभारी से भी हस्तक्षेप की मांग
प्रदेश अध्यक्ष कुमारी शैलजा ने भी हुड्डा समर्थकों के रवैये की आलोचना की है। शैलजा ने कहा है कि प्रदेश टीम में हुड्डा समर्थक विधायकों को शामिल किए बिना ही सूची को आलाकमान को भेजा जा रहा है। वहीं कांग्रेस के कई नेता इस पूरे विवाद पर केसी वेणुगोपाल और प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल से हस्तक्षेप की मांग कर रहे हैं।

कर्नाटक में भी सियासी झगड़ा
हरियाणा के अलावा राजस्थान, कर्नाटक और पंजाब में भी इसी तरह के मतभेदों की खबर सामने आने लगी हैं। हाल ही में कर्नाटक में पूर्व सीएम सिद्धारमैया के गुट के विधायकों ने कर्नाटक में पार्टी के वरिष्ठ नेता डीके शिवकुमार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है।शिवकुमार और सिद्धारमैया के बीच विवाद उन नेताओं को कांग्रेस में वापस लाने को लेकर है, जो कि पार्टी छोड़कर बीजेपी या किसी अन्य दल में शामिल हो गए हैं।

About bheldn

Check Also

यूपी में फिर योगी सरकार बनी तो पलायन कर लूंगा…. मुनव्वर राना बोले, हालात ठीक नहीं

लखनऊ उत्तर प्रदेश चुनाव के प्रथम चरण का मतदान 10 फरवरी को है। ऐसे में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *