Dilip Kumar नहीं रहे, चला गया हिंदी सिनेमा का ‘मुगल-ए-आजम’

मुंबई,

हिन्दी सिनेमा के दिग्गज कलाकार दिलीप कुमार का बुधवार सुबह निधन हो गया. बॉलीवुड के ‘ट्रेजेडी किंग’ ने मुंबई के एक अस्पताल में सुबह करीब 7.30 बजे अंतिम सांस ली. दिलीप कुमार की उम्र 98 साल थी, वह पिछले काफी वक्त से बीमार थे. पिछले एक महीने में ही दिलीप कुमार को दो बार अस्पताल में भर्ती करवाया गया था.

दिलीप कुमार के निधन के साथ ही हिन्दी सिनेमा के एक युग का अंत हो गया है. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, कई राज्यों के मुख्यमंत्री, बॉलीवुड के दिग्गजों ने दिलीप कुमार के निधन पर शोक व्यक्त किया और इस दिग्गज को अंतिम सलाम किया.बता दें कि दिलीप कुमार को मुंबई के खार हिंदुजा अस्पताल में भर्ती कराया गया था. दिलीप कुमार के ट्विटर अकाउंट से उनके निधन की पुष्टि भी की गई.

दो दिन पहले ही आया था हेल्थ अपडेट
दिलीप कुमार को पिछले एक महीने में दो बार अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. पांच जुलाई को ही दिलीप कुमार के ट्विटर हैंडल से उनकी हेल्थ पर अपडेट दिया गया था. दिलीप कुमार की पत्नी सायरा बानो द्वारा बयान में कहा गया था कि दिलीप कुमार की तबीयत में सुधार हो रहा है. वह अभी भी अस्पताल में ही हैं, आप उन्हें अपनी दुआओं में रखें. लेकिन इस हेल्थ अपडेट के दो दिन बाद ही दिलीप कुमार इस दुनिया को अलविदा कहकर चले गए.

पेशावर का युसुफ जो बन गया बॉलीवुड का ट्रेजेडी किंग
11 दिसंबर, 1922 को ब्रिटिश इंडिया के पेशावर (अब पाकिस्तान में) में जन्मे में दिलीप कुमार का असली नाम मोहम्मद युसुफ खान था. युसुफ खान ने अपनी पढ़ाई नासिक में की थी, राज कपूर उनके बचपन में ही दोस्त बन गए थे. मानो वहीं से दिलीप कुमार का सफर बॉलीवुड में शुरू हो गया था. करीब 22 साल की उम्र में ही दिलीप कुमार को पहली फिल्म मिल गई थी. 1944 में उन्होंने फिल्म ‘ज्वार भाटा’ में काम किया था, लेकिन उनकी इस फिल्म की अधिक चर्चा नहीं हो पाई थी.

दिलीप कुमार ने करीब पांच दशक के करियर में 60 के करीब फिल्में की थीं. दिलीप कुमार ने अपने करियर में कई फिल्मों को ठुकरा दिया था, क्योंकि दिलीप कुमार का मानना था कि फिल्में कम हो लेकिन बेहतर हों. लेकिन दिलीप कुमार को मलाल भी रहा था कि वो प्यासा, दीवार में काम नहीं कर पाए थे.

सायरा बानो ने निभाया अंतिम वक्त तक साथ
दिलीप कुमार ने साल 1966 में सायरा बानो से शादी की थी, जो खुद भी एक अभिनेत्री थीं. जब दोनों की शादी हुई तब सायरा बानो, दिलीप कुमार से 22 साल छोटी थीं. दिलीप कुमार ने आसमा साहिबा से भी शादी की थी, हालांकि ये शादी सिर्फ 1983 तक चली थी. लेकिन सायरा बानो के साथ दिलीप कुमार का साथ अंतिम सांस तक बना रहा. सायरा बानो लगातार अस्पताल से दिलीप कुमार के चाहने वालों को उनकी हेल्थ का अपडेट देती रहती थीं.

यादगार फिल्में…
ज्वार भाटा से शुरुआत करने वाले दिलीप कुमार की यादगार फिल्मों में शहीद, मेला, नदिया के पार, बाबुल, फुटपाथ, देवदास, नया दौर, मुगल-ए-आजम, गंगा-जमुना, राम और श्याम, करमा रहीं. दिलीप कुमार की आखिरी फिल्म किला थी, जो 1998 में आई थी.

दिलीप कुमार को भारत सरकार द्वारा कई अवॉर्ड से नवाज़ा गया था. दिलीप कुमार को पद्म विभूषण, दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड, पद्म भूषण से नवाज़ा गया था. दिलीप कुमार 2000 से 2006 से राज्यसभा सांसद भी रहे. पाकिस्तान ने भी दिलीप कुमार को अपने सर्वोच्च नागरिक अवॉर्ड से नवाज़ा था.

About bheldn

Check Also

रूस संग आ चीन ने खेल दिया गेम, यूक्रेन पर ‘पुरानी-नई दोस्ती’ के चक्कर में पड़ गया भारत

नई दिल्ली रूस और अमेरिका के नेतृत्व में पश्चिमी देशों के बीच यूक्रेन जंग का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *