दूसरी लहर के बाद खुले मंदिर को 10 दिन में ही मिला 3.12 करोड़ का दान

चित्तौड़गढ़,

कोरोना काल में भी भगवान के द्वार पर आस्थावान जनता का आना कम नहीं हुआ है. राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में स्थित मशहूर मंदिर सांवलिया जी के भंडारे को जब 10 दिन बाद खोला गया है तो दस दिनों में ही रिकॉर्ड 3,12,72,600 रुपया भेंट राशि निकली. इतना ही नहीं भंडारे की पेटी से 33 ग्राम सोना और 1370 ग्राम चांदी भी निकली. फ़िलहाल सिक्कों की गिनती जारी है.

आपको बता दें कि कोरोना की वजह से देश के मंदिरों की तरह ही राजस्थान के भी मंदिरों को बंद किया गया था. पिछले 11 अप्रैल से ही सांवलियाजी मंदिर में भी श्रद्धालुओं का प्रवेश बंद था. मगर 28 जून से इसे वापस खोल दिया गया था.

वैसे सांवलियाजी में अमावस्या के पूर्व चतुर्दशी पर ही भंडारा खोला जाता है, मगर इस बार 8 जुलाई को ही चतुर्दशी होने की वजह दस दिन में ही भंडारा खोलना पड़ा. लेकिन जैसे मंदिर के प्रबंधकों ने भंडारे को खोला वे आश्चर्य में पड़ गए. क्योंकि 10 दिन में ही भक्तों ने इतना चढ़ावा डाल दिया.

मंदिर मंडल अध्यक्ष कन्हैया दास वैष्णव और तहसीलदार भंवरलाल चोपड़ा की मौजूदगी में राजभोगआरती के बाद भंडारा खोला गया था और अभी भी गिनती जारी है.राजस्थान के चित्तौड़गढ़ के सांवलियाजी स्थित मंदिर के बारे में कहा जाता है कि यहां पर कोई भी अपनी आमदनी का एक हिस्सा दान पत्र में डाल जाता है तो उसकी आमदनी दिन दूनी रात चौगुनी बढ़ जाती है.

About bheldn

Check Also

BJP ने तीसरी लिस्ट जारी की, सिद्धू के खिलाफ आईएएस को दिया टिकट

चंडीगढ़ आगामी पंजाब विधानसभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने तीसरी लिस्ट जारी कर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *