ब्लॉक प्रमुख चुनावः सपा का अपने ही गढ़ में सूपड़ा साफ, फिरोजाबाद में BJP की बड़ी जीत

फिरोजाबाद ,

समाजवादी पार्टी (सपा) के गढ़ में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सेंधमारी कर दी है. ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने 7 सीटों पर कब्जा जमाया तो 2 सीटों पर निर्दलीय प्रत्याशी विजयी रहे. जबकि समाजवादी पार्टी का अपने ही गढ़ में सूपड़ा साफ हो गया.

फिरोजाबाद जिले में 9 ब्लॉक हैं, जिसमें 3 ब्लॉक एटा, टूंडला और नारखी ब्लॉक में भाजपा के प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित हो चुके थे, लेकिन आज 6 ब्लॉक में हुए मतदान में 4 ब्लॉक प्रमुख के पद भाजपा की झोली में आ गए. दो पर निर्दलीय विजयी हुए हैं जबकि समाजवादी पार्टी को एक भी सीट हासिल नहीं हुई है.

फिरोजाबाद ब्लॉक में डॉक्टर लक्ष्मी नारायण यादव को 59 वोट मिले और जीत हासिल की. जबकि इनके प्रतिद्वंदी इंद्रपाल सिंह गुर्जर (सपा) को 49 वोट मिले. जसराना ब्लॉक में ब्लॉक प्रमुख की लड़ाई भाजपा के स्थानीय नेताओं की नाक का सवाल बन गया.

हाथवंत ब्लॉक में उलटफेर
भाजपा ने जसराना से अपना कोई अधिकृत प्रत्याशी नहीं उतारा था. निर्दलीय के तौर पर जसराना के बीजेपी विधायक रामगोपाल की पत्नी संध्या लोधी मैदान में थीं और उनका मुकाबला संजीव यादव जो भाजपा के ही जिला मंत्री हैं से था. लेकिन संध्या लोधी को 34 वोट मिले और संजीव यादव को 29 वोट. संध्या 5 वोटों के अंतर से ब्लॉक प्रमुख का चुनाव जीत गई हैं.

सबसे बड़ा उलटफेर हुआ हाथवंत ब्लॉक में जहां पर 75 वोट में से 72 वोट पड़े. भारतीय जनता पार्टी की स्वाति चौहान को महज 28 वोट मिले जबकि निर्दलीय सुरेशचंद को 44 वोट मिले जिससे यह सीट बीजेपी के हाथ से निकल गई.

शिकोहाबाद में बीजेपी की जीत
शिकोहाबाद ब्लॉक में भारतीय जनता पार्टी की कुमारी प्रिया यादव को 51 वोट मिले और समाजवादी पार्टी समर्थित रूबी यादव को 37 वोट मिले. इस तरह से प्रिया यादव विजयी रहीं. आराव ब्लॉक से भाजपा प्रत्याशी कमलेश राजपूत जीत गए. इसी तरह मदनपुर ब्लॉक से निर्दलीय पुष्पा देवी पत्नी नरेश चंद को 62 वोट मिले और विजयी रहीं. निर्दलीय सरला देवी पत्नी समर सिंह को 20 वोट मिले और वह दूसरे स्थान पर रहीं.

हालांकि फिरोजाबाद में हुए ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में समाजवादी पार्टी के एमएलसी डॉक्टर दिलीप यादव ने आरोप लगाया है कि उनके मतदाताओं को कई जगह वोट डालने नहीं दिए गए. इसको लेकर सपा के जिलाध्यक्ष ने धरना भी दिया लेकिन पुलिस प्रशासन ने समझा कर मामले को शांत किया.एसएसपी अशोक कुमार शुक्ला का कहना है कि मतदान पूर्णतय शांतिपूर्ण रहा. पुलिस के कड़े बंदोबस्त किए गए थे

About bheldn

Check Also

हरक सिंह की बहू अनुकृति को कांग्रेस से टिकट, हरीश रावत रामनगर से लड़ेंगे, आ गई नई लिस्‍ट

देहरादून उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर राजनीत‍िक सरगर्मी तेज हो गई है। कांग्रेस ने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *