टीकों पर सवाल, जानिए कौन हैं CM योगी को उधार मांगने वाले ऑस्ट्रेलियाई MP

नई दिल्ली,

कोरोना महामारी के प्रबंधन को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ ऑस्ट्रेलिया के सांसद क्रैग केली ने की है. ऑस्ट्रेलियाई सांसद ने सीएम योगी को ऑस्ट्रेलिया में कोरोना से हालात को सुधारने के लिए उधार मांगा है.ऑस्ट्रेलियाई सांसद क्रैग केली पर अक्सर कोरोना महामारी की गलत सूचना का आरोप लगता रहा है. इन्हीं आरोपों के बीच क्रैग केली ने फरवरी में ऑस्ट्रेलिया की राइट विंग सरकार का साथ छोड़ दिया था. क्रेग केली सोशल मीडिया और संसद में कोरोनो के टीकों की सुरक्षा पर सवाल उठाने के साथ लॉकडाउन का विरोध करते रहे हैं.

फेसबुक ने क्रैग पर लगाया था एक हफ्ते का बैन
इसके अलावा ऑस्ट्रेलियाई सांसद क्रैग केली ने मलेरिया की दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन और हेडलाइस दवा इवरमेक्टिन जैसे अप्रमाणित कोरोना उपचारों को बढ़ावा देने की वकालत भी की थी. कोरोना को लेकर गलत जानकारी फैलाने के आरोप में फेसबुक ने क्रैग केली के फेसबुक पोस्ट करने की सहूलियत को एक हफ्ते तक के लिए बंद भी कर दिया था.

फेसबुक के प्रवक्ता ने कहा था, ‘हम निर्वाचित अधिकारियों सहित किसी को भी COVID-19 के बारे में गलत सूचना साझा करने की अनुमति नहीं देते हैं, जिसे पब्लिक हेल्थ एक्सपर्ट की ओर से नहीं जारी की गई हो.’ हालांकि क्रैग केली ने गलत जानकारी फैलाने के आरोप से इनकार करते हुए कहा था कि विचार में अंतर हो सकता है.

ऑस्ट्रेलियाई सांसद क्रैग केली ने ऑस्ट्रेलिया के चिकित्सा अधिकारियों की सलाह के खिलाफ COVID-19 उपचारों का समर्थन किया था और कहा था कि बच्चों को मास्क पहनने के लिए मजबूर करना बाल शोषण का एक रूप था है. वह एक पॉडकास्ट में भी दिखाई दिए जहां टीकाकरण विरोधी प्रचारक पीट इवांस ने उनका साक्षात्कार लिया था.

कौन हैं क्रैग केली
ऑस्ट्रेलियाई राजनेता क्रैग केली ने ह्यूजेस के डिवीजन से सांसद हैं. वह 2010 के संघीय चुनाव से ह्यूजेस से सांसद बनकर ऑस्ट्रेलियाई संसद में पहुंच रहे हैं. केली लिबरल पार्टी के दक्षिणपंथी गुट के सदस्य थे. इसी साल फरवरी में क्रैग केली ने अपनी पार्टी से इस्तीफा दे दिया और वह स्वतंत्र सदस्य के रूप में संसद के क्रॉसबेंच पर बैठ रहे हैं.

क्रैग ने CM योगी की तारीफ की
क्रैग केली ने 10 जुलाई को अपने ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा, ‘भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश… क्या कोई ऐसा रास्ता है जिससे वे हमें अपना मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कुछ दिनों के लिए दे सकते हैं जिससे कि वो आइवरमेक्टिन (दवा) की किल्लत से हमें निकाल सकें. जिसकी वजह से हमारे राज्य में निराशाजनक स्थिति पैदा हो गई है.’

About bheldn

Check Also

पानी मांगने के बहाने किया रेप, आखिरी सांस तक फांसी पर लटका रहेगा….4 दिन के ट्रायल में फैसला

अररिया जिले की अदालत ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया। नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी को सिर्फ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *