????????????????????????????????????

हरियाली उत्सव : पर्यावरण को बचाए बिना जीवन की कल्पना संभव नहीं – संजय गुलाटी

भेल हरिद्वार।

शुक्रवार को हरियाली उत्सव के रूप में मनाए जाने वाले हरेला पर्व के अवसर पर बीएचईएल हरिद्वार में एक पौधारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। हरिद्वार रूढ़की विकास प्राधिकरण एचआरडी के सचिव डॉ.ललित नारायण मिश्र, बीएचईएल हरिद्वार के कार्यपालक निदेशक संजय गुलाटी तथा ओम आरोग्यम योग मंदिर हरिद्वार के संस्थापक योगी रजनीश ने त्रिशूल अतिथि गृह परिसर में विभिन्न प्रजातियों के औषधीय पौधे लगाए।

कार्यक्रम में एचआरडी के आर्युप्लांट्स मिशन की ब्रांड एम्बेसडर कु यशस्वी शर्मा ने भी प्रतिभागिता करते हुए पौधारोपण किया। इस अवसर पर डॉ.ललित नारायण मिश्र ने कहा कि औषधीय पौधारोपण से जहां एक तरफ पर्यावरणीय संतुलन को बनाए रखने में मदद मिलेगी वहीं दूसरी तरफ रोगों से लडऩे के लिए आयुर्वेदिक औषधियां भी प्राप्त हो सकेंगी । उन्होंने पर्यावरण संरक्षण की दिशा में बीएचईएल द्वारा किए जा रहे प्रयासों की भी सराहना की। श्री गुलाटी ने कहा कि पर्यावरण को बचाए बिना जीवन की कल्पना ही नहीं की जा सकती है।

उन्होंने कहा कि बीएचईएल पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन के लिए निरंतर प्रयत्नशील है और आगे भी इस तरह की गतिविधियों को बढ़ावा देता रहेगा। कु यशस्वी शर्मा ने कहा कि पेड़ हमें ऑक्सीजन देते हैं इसलिए हमें ज्यादा से ज्यादा पेड़ पौधे लगाने चाहिए। कार्यक्रम में शामिल बीएचईएल के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने भी तुलसी, गिलोय तथा एलोवेरा आदि के पौधे लगाकर पर्यावरण के प्रति जागरूकता का संदेश दिया।

हरेला पर्व का महत्व
उत्तराखण्ड में हरेला पर्व को वृक्षारोपण या पौधारोपण त्यौहार के रुप में मनाया जाता है तथा इस दिन पेड़ लगाये जाने की परम्परा है। ऐसी मान्यता है कि हरेला के दिन लगाए गए पेड़ पौधे हमेशा हरे-भरे रहते हैं। इस अवसर पर महाप्रबंधक मानव संसाधन आरआर शर्मा तथा एचआर पब्लिक स्कूल, लक्सर की प्रधानाचार्या श्रीमती मीनाक्षी अग्रवाल सहित बीएचईएल के अनेक वरिष्ठ अधिकारी तथा कर्मचारी मौजूद थे।

About bheldn

Check Also

भेल चैंपियंस क्रिकेट ट्रॉफी 2022 का आयोजन

भोपाल छत्तीसगढ़ शाखा क्रिकेट मैदान में आयोजित भेल चैंपियंस क्रिकेट ट्रॉफी 2022 के अंतर्गत 22 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *