भेल टाउनशिप के 1422 दुकानों का मामला जल्द सुलझाने भारी उद्योग मंत्री से मिली विधायक

-भेल में विकास कार्य, व्यापारियों और अन्य मुद्दों पर की चर्चा

भोपाल

भेल टाउनशिप के 15 बाजार में 1422 दुकानों का मामला सालों से उलझा पड़ा है। साथ ही विकास कार्य भी अवरूद्ध पड़ें हैं। भेल के ठेका श्रमिकों के वेतन में कटौती की जा रही है इन सभी मुद्दों को लेकर शुक्रवार को भारत सरकार के नवनियुक्त भारी उद्योग मंत्री महेंद्र नाथ पांडे से गोविंदपुरा विधान सभा क्षेत्र की विधायक श्रीमती कृष्णा गौर ने मुलाकात की। इस संबंध में उन्होंने केन्द्रीय मंत्री को ज्ञापन भी सौंपा।

गौरतलब है कि भेल के दुकानदारों के लीज रेंट और मैन्टेनेंस का मामला लंबे समय से उलझा पड़ा है। इसको लेकर क्षेत्रीय विधायक ने स्थानीय प्रबंधन को कई बार ज्ञापन भी सौंपा है लेकिन मामला आज भी अधर में है। दूसरी और भेल टाउनशिप में स्थित झुग्गी बस्तियों की बिजली की समस्या का मामला सालों से उलझा पड़ा है। अवैध बिजली कनेक् शनों से भेल को सालाना 8 से 10 करोड़ का चूना लग रहा है। झुग्गी बस्ती वाले बिजली के वैध कनेक्शन के लिए मांग कर रहे हैं न तो बिजली विभाग सुनता है और न ही भेल प्रशासन।

इसी तरह भेल क्षेत्र में विकास कार्यों में लगाई जाती रही रोक के विषय में अवगत कराया गया कि क्षेत्र में मास्टर प्लान की सड़कें व अन्य विकास कार्य परमिशन के अभाव में पूर्ण नहीं हो पा रहे हंै। श्रीमती गौर ने भारी उद्योग मंत्री सारी परिस्थितियां उनके समक्ष रखी जिसके लिए उन्होंने कहा कि विकास कार्यों में किसी भी प्रकार की रोक नहीं लगनी चाहिए।

श्रमिकों की समस्या भी उठाई
भारत सरकार में केंद्रीय श्रम एवं पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव से सौंजन्य भेंट कीऔर उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में महत्वपूर्ण स्थान मिलने पर अपनी ओर से व पुरे समाज की ओर से बधाई दी। श्रीमती गौर ने मंत्री से भेल क्षेत्र के श्रमिकों की समस्या के बारे में चर्चा की और वर्तमान में कार्यरत सोसाइटी व ठेका श्रमिकों के वेतन से काटे जा रहे 1600 रुपये पर रोक लगाकर ऐरियर सहित पूरा वेतन दिया जाए इस संबंध में ज्ञापन सौंपा।

About bheldn

Check Also

इंटक आफिस में मनाया गणतंत्र दिवस

भोपाल गणतंत्र दिवस के अवसर पर पिपलानी स्थित इंटक आफिस में झण्डावन्दन कार्यक्रम में इंटक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *