अडानी ग्रुप की कंपनियों की SEBI कर रहा जांच, वित्त राज्य मंत्री ने बताया

नई दिल्ली ,

भारतीय प्रति​भूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) अपने नियमों के अनुपालन को लेकर अडानी समूह की कई कंपनियों की जांच कर रहा है. वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने सोमवार को संसद में यह जानकारी दी है. हालांकि वित्त राज्य मंत्री ने इस बात से इंकार किया कि अडानी समूह के कंपनियों में एफपीआई के निवेश के बारे में प्रवर्तन निदेशालय (ED) कोई जांच कर रहा है. उन्होंने कहा, ‘प्रवर्तन निदेशालय शेयरों की दिन प्रति दिन की ट्रेडिंग के मामले में अडानी समूह में हिस्सेदारी रखने वाले एफपीआई की किसी तरह की जांच नहीं कर रहा.’

अडानी के शेयर टूट गए
शेयर बाजार में अडानी समूह की छह लिस्टेड कंपनियां इस प्रकार हैं-अडानी एंटरप्राइजेज, अडानी ट्रांसमिशन, अडानी टोटल गैस, अडानी ग्रीन एनर्जी, अडानी पोर्ट्स और अडानी पावर. इस खबर के आते ही आज अडानी समूह की कंपनियों के शेयर टूट गए. अडानी एंटरप्राइजेज करीब 4.5 फीसदी टूटकर 1333.30 तक चला गया. इसी तरह अडानी पावर करीब 4 फीसदी टूटकर 101.15 पर पहुंच गया. इसी तरह अडानी पोर्ट करीब 4 फीसदी टूटकर 661.60 रुपये तक चला गया. अडानी ट्रांंसमिशन करीब 5 फीसदी टूटकर 960 तक चला गया. अडानी टोटल गैस करीब 5 फीसदी टूटकर 854.30 तक चला गया और अडानी करीब टूटकर तक चला गया और अडानी ग्रीन एनर्जी 3 फीसदी से ज्यादा टूटकर 970 तक चला गया.

विदेशी फंडों के अकाउंट पर रोक
गौरतलब है ​कि पिछले महीने एक अंग्रेजी अखबार में यह खबर आई थी कि नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (NSDL) ने तीन विदेशी फंडों के अकाउंट पर रोक लगा दी है. इन फंडों ने अडानी ग्रुप की कंपनियों में 43,500 करोड़ रुपये का निवेश किया है. इसकी वजह से अडानी समूह की कंपनियों के शेयरों में भारी गिरावट आई.

नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (NSDL) ने Albula इनवेस्टमेंट फंड, Cresta फंड और APMS इनवेस्टमेंट फंड के अकाउंट फ्रीज किए हैं. डिपॉजिटरी की वेबसाइट के अनुसार ये अकाउंट 31 मई को या उससे पहले ही फ्रीज किए गए हैं. ये तीनों फंड मॉरीशस के हैं और सेबी में इन्हें विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (FPIs) के रूप में रजिस्टर्ड किया गया है. मीडिया में यह खबर आने के बाद अडानी ग्रुप की कंपनियों के कई शेयरों में लोअर सर्किट लग गया और इनके मार्केट कैप में भारी गिरावट आई.

About bheldn

Check Also

वेदांता की नजर सरकारी कंपनियों पर, बनाएगी 10 अरब डॉलर का फंड

नई दिल्ली अनिल अग्रवाल की माइनिंग कंपनी वेदांत रिसोर्सेज लिमिटेड की नजर बीपीसीएल और दूसरी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *