पवित्र ‘बहुदा यात्रा’ में शामिल नहीं हो सकेंगे श्रद्धालु, पुरी में सरकार ने लगाई धारा 144

भुवनेश्वर

तीर्थ नगरी पुरी में मंगलवार को निकाली जाने वाली ‘बहुदा यात्रा’ में शामिल होने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। ऐसा कोरेाना महामारी की वजह से किया गया है। भगवान जगन्नाथ और उनके भाई-बहनों की वापसी यात्रा के लिए पुरी में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू रहेगी।यह आदेश सोमवार रात 8 बजे से लागू होगा ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि बहुदा यात्रा के समय कोई भी भक्त ग्रैंड रोड पर न हो। अधिकारियों ने कहा कि प्रतिबंध 21 जुलाई को रात 8 बजे तक लागू रहेगा।

आदेश के तहत ग्रांड रोड पर सभी होटल, लॉजिंग, धर्मशालाएं और गेस्ट हाउस बंद कर दिए गए हैं। इस अवधि के दौरान आवश्यक सेवाओं/चिकित्सा सेवाओं को ले जाने वाले अधिकृत वाहनों के अलावा पूरे ग्रैंड रोड में किसी भी वाहन की आवाजाही की अनुमति नहीं होगी।

अधिकारियों ने कहा कि ग्रैंड रोड के किनारे स्थित इमारतों, होटलों, धर्मशालाओं, लॉज और गेस्ट हाउस की छतों या बालकनियों से किसी भी व्यक्ति को त्योहार देखने की अनुमति नहीं होगी। 48 घंटे के दौरान सभी दुकानों और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को खोलने की अनुमति नहीं होगी।

इस अवधि के दौरान अन्य जिलों से पुरी जिले में लोगों की आवाजाही को प्रतिबंधित करने के लिए जिले के सभी प्रवेश बिंदुओं को सील कर दिया गया है। श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (एसजेटीए) के मुख्य प्रशासक कृष्ण कुमार ने सोमवार को एक समीक्षा बैठक की और कहा कि बहुदा यात्रा भक्तों की भागीदारी के बिना रथयात्रा की तरह सभी कोविड-19 नियमों का पालन करते हुए आयोजित की जाएगी।

उन्होंने कहा कि डीडी चैनल के माध्यम से अनुष्ठानों के सीधा प्रसारण के लिए आवश्यक व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि सभी सेवायतों और अधिकारियों का कोविड-19 परीक्षण और टीकाकरण किया जा रहा है। कुमार ने कहा कि चूंकि मंगलवार को दिन के समय तापमान अधिक होने की संभावना है, इसलिए अधिक हीटवेव बेड और ओआरएस पाउडर तैयार रखे जाएंगे, जबकि अग्निशमन सेवा और पीएचईओ के अधिकारियों द्वारा पानी का छिड़काव किया जाएगा।

About bheldn

Check Also

हरक सिंह की बहू अनुकृति को कांग्रेस से टिकट, हरीश रावत रामनगर से लड़ेंगे, आ गई नई लिस्‍ट

देहरादून उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर राजनीत‍िक सरगर्मी तेज हो गई है। कांग्रेस ने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *