सरकार के बचाव में आगे आए ज्योतिरादित्य ने विपक्ष को बताया स्वार्थी, हुए ट्रोल

नई दिल्ली

पेगासस जासूसी विवाद मामले को लेकर संसद में बवाल के बाद केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया सरकार के बचाव में आगे आए। उन्होंने विपक्ष को स्वार्थी बताया। कहा, पीएम की अपील के बावजूद विपक्ष का संसदीय कार्यवाही को बाधित करना जारी रखना अनुचित है। सूचना तकनीकी और संचार मंत्री को परेशान किया जाता है और उनके बयान पत्र छीन लिए जाते हैं! यह दुखद है कि पूरे देश को कुछ लोगों के स्वार्थ का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है जो लोगों के लिए महत्वपूर्ण मुद्दों की परवाह नहीं करते हैं।

उनके इस बयान पर सोशल मीडिया में कई लोगों ने उनको ट्रोल किया। कई यूजरों ने ट्वीट करके उन्हें यूपीए-2 के दौर की याद दिलाई। कहा कि जब वे कांग्रेस में थे तब अपनी भूमिका और मंत्री अरुण जेटली के बयान को याद करिए। लोगों ने कहा कि पार्टी बदलने के साथ ही सिंधिया के सुर बदल गए हैं। उन्हें कांग्रेस पार्टी के अपने दिन नहीं भूलने चाहिए। सीए कमल जिंदल@CAKAMALDEEP नाम के यूजर ने उनके ‘स्वार्थी’ शब्द को लेकर हंसी वाली इमोजी लगाकर ट्वीट किया। कई दूसरे यूजरों ने लिखा कि जब विपक्ष गलत है तो उस पर सरकार ने कार्रवाई क्यों नहीं की।

सौमेन मोहंती @SomenMohanty के नाम के यूजर ने ट्वीट किया “और वे कौन सी बातें हैं मिस्टर सिंधिया? आप सभी लोगों को संसद में व्यवधान के बारे में बात नहीं करनी चाहिए। मुझे यकीन है कि आपको यूपीए 2 में अपने दिन और विपक्ष की भूमिका पर अरुण जेटली का बयान याद होगा। आप जैसे नेताओं ही कारण हैं कि सत्ताधारी शासन बहुत महत्व के मुद्दों पर इतना अडिग है। आपने पहले अपने दिनों का आनंद लिया, अब समय आ गया है कि आप भी अपनी पार्टी की गलतियों के लिए हैक किए जाएं।”

गुमनाम @RealityCheckIN0 नाम के एक अन्य यूजर ने लिखा, “शर्म आती है थोड़ी सी? क्या से क्या हो गए आप भी।” संजय कुमार ठाकुर@tsanjay2018 नाम के यूजर ने लिखा, “अगर पीएम की चमचागीरी नहीं करेंगे तो फिर मिनिस्टर नहीं रह पाएंगे, पीएम जी से ये भी बोल सकते थे कि जासूसी की जांच ही करवा दीजिए जेपीसी से तब मैं समझता आप अच्छे हैं। पहले तो ऐसे नहीं थे। रहा स्वार्थ का तो आपसे ज्यादा कौन होअगा अपने अंदर झांकिए चेहरे नजर आ जाएंगे।”

एक्का जी@ekkaanujkumar “महाराज आप ग्राहक खोजो एयर इंडिया के लिए, यही काम दिया है, ज्यादा मत उड़ो।” इसी तरह कई अन्य यूजरों ने भी उनके बयान पर तंज कसा है और कमेंट किए हैं।

About bheldn

Check Also

क्‍या सरकार रेलवे का निजीकरण करने वाली है? स्‍वामी की चेतावनी- फैल रही हवा, स्‍टैंड साफ करे केंद्र

नई दिल्‍ली आरआरबी-एनटीपीसी परीक्षा प्रक्रिया के विरोध में युवाओं का गुस्‍सा सातवें आसमान पर है। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *