प्रदेश अध्यक्ष बनते ही फॉर्म में आए सिद्धू, बोले- कांग्रेस एकजुट, दिल्ली मॉडल के परखच्चे उड़ा देंगे

चंडीगढ़,

पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में जारी संकट कुछ हदतक कम होता दिख रहा है. शुक्रवार सुबह कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष का पद संभाल लिया है. पद संभालते ही सिद्धू ने हुंकार भरी और कहा कि उनका मिशन पंजाब को जिताना है.

प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद सिद्धू की हुंकार
नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद कहा कि आज देश का किसान दिल्ली की सड़कों पर धरना दे रहा है, सबसे बड़ा मसला यही है. सिद्धू ने कहा कि कार्यकर्ता के विश्वास में भगवान की आवाज है, हम कार्यकर्ताओं की आवाज को सुनेंगे. नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि क्यों चोरों की चोरी पकड़ी ना जाए और क्यों महंगी बिजली खरीदी जाए.

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि मेरी प्रधानी का सबसे बड़ा मिशन किसानों को ताकत देना ही है. सिद्धू ने कहा कि किसान मोर्चा वालों मैं मिलना चाहता हूं. सिद्धू ने कहा कि मेरी चमड़ी मोटी है, मेरा मिशन एक ही है.

कैप्टन बोले- सिद्धू और मैं साथ करेंगे काम
इस दौरान मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह भी उनके साथ मौजूद दिखे और तमाम कार्यकर्ताओं के बीच दोनों ने मंच साझा किया. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने यहां कार्यक्रम में कहा कि जब सोनिया गांधी ने उन्हें बताया कि वे नवजोत सिंह सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष बनाना चाहते हैं, तब मैंने कहा कि वह उनके फैसले का स्वागत करेंगे. मैं और नवजोत सिंह सिद्धू साथ में काम करेंगे.

नवजोत सिंह सिद्धू की ताजपोशी से पहले मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सभी विधायकों और पंजाब कांग्रेस के अधिकारियों को चाय पार्टी पर बुलाया है. पंजाब भवन में ये चाय पार्टी हो रही है, जहां नवजोत सिंह सिद्धू समेत अन्य नेता मौजूद रहे. यहां लंबे वक्त के बाद सिद्धू और कैप्टन एक मंच पर दिखे.

गुरुवार को पंजाब कांग्रेस के नए वर्किंग प्रेसिडेंट संगत सिंह, कुलजीत नागरा कैप्टन अमरिंदर सिंह को न्योता देने गए थे, जो उन्होंने स्वीकार कर लिया था. नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा भेजे गए न्योते में लिखा गया था कि कैप्टन परिवार के बड़े हैं, ऐसे में वह नई टीम को आकर आशीर्वाद दें.

लंबे विवाद के बाद सिद्धू की ताजपोशी
बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू लगातार कैप्टन अमरिंदर सिंह पर निशाना साधते रहे हैं, ऐसे में केंद्रीय आलाकमान की मर्जी के बाद भी उन्हें काफी दिनों तक पंजाब कांग्रेस की कुर्सी पर बैठने के लिए इंतजार करना पड़ा था. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मांग की थी कि सिद्धू को उनसे माफी मांगनी चाहिए.

लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू ने माफी मांगने से इनकार किया. अब केंद्रीय आलाकमान के निर्देश पर सभी कांग्रेसी नेता एक साथ एक मंच पर आ रहे हैं. प्रदेश अध्यक्ष का पद मिलने के बाद से ही नवजोत सिंह सिद्धू लगातार नेताओं से मुलाकात कर रहे हैं, उन्होंने हाल ही में अमृतसर, नवांशहर समेत कई इलाकों का दौरा किया.

About bheldn

Check Also

दर्दनाक हादसाः ट्रेन की चपेट में आने से महिला और 3 बच्चों की मौत

डुमरांव (बक्सर) पटना-मुगलसराय (पीडीडीयू) रेलखंउ के डुमरांव रेलवे स्टेशन के पश्चिमी रेलवे गुमटी और नहर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *