गांधीजी की हत्या के बाद किसने बांटी थी मिठाई? गोडसे और संघ का जिक्र कर कांग्रेस ने साधा निशाना

लखनऊ

यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले एक बार फिर से नाथूराम गोडसे का मुद्दा उठा है। कांग्रेस ने इसे लेकर आरएसएस पर निशाना साधा है। कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से मामले को लेकर ट्वीट किया गया है। कांग्रेस ने कहा कि नाथूराम गोडसे और विभाजनकारी ताकतों के संबंध किसी से छुपे हुए नहीं थे, इन संबंधों को नाथूराम गोडसे के परिजनों ने भी स्वीकार किया था। RSS के मुखपत्र के संपादकीय के रूप में विभाजनकारी ताकतों की असलियत सामने आई थी।

‘हत्या के बाद बांटी गई थी मिठाई’
कांग्रेस ने लिखा, ‘नाथूराम गोडसे के परिवार ने विभाजनकारी ताकतों के साथ उनके संबंधों का खुलासा किया। गांधीजी के निजी सचिव प्यारे लाल ने भी उल्लेख किया कि कैसे गांधीजी की हत्या के बाद विभाजनकारी संगठन मिठाई बांट रहे थे।’कांग्रेस ने ट्वीट किया, ‘आरएसएस के मुखपत्र ऑर्गनाइजर ने 11 जनवरी 1970 के अपने संपादकीय में स्पष्ट लिखा था कि गांधीजी की हत्या जनता के आक्रोश के अभिव्यक्ति थी।’

About bheldn

Check Also

प्रयागराज: तोड़फोड़ केस में 1000 पर FIR, छात्रों की पिटाई मामले में 6 पुलिसकर्मी सस्पेंड

लखनऊ, मंगलवार को प्रयागराज में छात्रों ने नौकरी ना मिलने को लेकर जोरदार विरोध प्रदर्शन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *