ये बॉलीवुड के बादशाह की नहीं, बेटे के पिता की मुस्‍कान है…. पहले आ गई दिवाली

पिछले करीब एक महीने से शाहरुख खान के घर पर छाए गमी के बादल गुरुवार को छट गए। जेल में बंद बेटे आर्यन की रिहाई का रास्‍ता साफ हो गया। आर्यन को बॉम्‍बे हाई कोर्ट ने सशर्त जमानत दे दी। बॉलीवुड के बादशाह के लिए सुकून की शायद इससे बड़ी खबर कुछ नहीं हो सकती थी। उनकी तसल्‍ली और खुशी उस वक्‍त साफ दिखी जब ड्रग्‍स कूज केस में आर्यन की पैरवी करने वाली लीगल टीम के साथ शाहरुख ने फोटो खिंचवाई। उनकी मुस्‍कान साफ दिखा रही थी कि वह बॉलीवुड के किंग की नहीं, बल्कि बेटे के पिता की है।

जिस दिन आर्यन को गिरफ्तार किया गया था, उसी दिन शाहरुख खान के परिवार पर गाज गिर गई थी। शाहरुख और उनकी पत्‍नी गौरी बेटे की खैरियत के लिए बहुत परेशान थे। उन्‍हें पूरी इंडस्‍ट्री से सपोर्ट मिल रहा था। लेकिन, दिल में बेचैनी थी। परिवार ने कतई उम्‍मीद नहीं की थी कि आर्यन के घर आने का इंतजार इतना लंबा खिंच जाएगा।

कैसा था मन्‍नत का माहौल?
ऐसी खबरें आई थीं कि आर्यन के अरेस्‍ट की न्‍यूज आते ही शाहरुख ने देश के सबसे अच्‍छे लीगल एक्‍सपर्ट्स को फोन करना शुरू कर दिया था। इसी कड़ी में सतीश मानशिंदे से संपर्क किया गया। उन्‍होंने शाहरुख को भरोसा दिया था कि आर्यन की जमानत उम्‍मीद से पहले हो जाएगी। हालांकि, ऐसा नहीं हुआ। कोर्ट ने आर्यन की जमानत याचिका खारिज कर दी। इसने शाहरुख सहित पूरे परिवार को बड़ा झटका दिया।

खाए जा रही थी बेटे की फिक्र
बताया जाता है कि गौरी के भाई और शाहरुख के साले विक्रांत छिब्‍बर और उनकी पत्‍नी नमिता दोनों को संबल देते रहे। बॉलीवुड अभिनेता र‍ितिक रोशन और उनकी पूर्व पत्‍नी सुसैन खान भी परिवार को ढांढस बंधा रहे थे। इनसे परिवार को बल तो मिला लेकिन बेटे की फिक्र बनी रही। एनसीबी के अधिकारियों से पत‍ि-पत्‍नी द‍िन में कई बार कॉल कर आर्यन की सेहत के बारे में पूछते रहते। इसका असर शाहरुख की पेशेवर जिंदगी पर भी पड़ा। बताया जाता है कि उन्‍होंने सारे असाइनमेंट्स होल्‍ड पर डाल दिए थे। बेटे की फिक्र उन्‍हें खाए जा रही थी।

दिवाली से पहले मनी मन्‍नत में दिवाली
गुरुवार को बॉम्बे हाई कोर्ट के आर्यन को जमानत देते ही मन्‍नत में खुशी की लहर दौड़ गई। मुंबई में शाहरुख के घर के बाहर प्रशंसकों ने जोरदार आतिशबाजी की। दिवाली से पहले दिवाली मनाई गई। ‘वेलकम होम प्रिंस’ के बैनर दिखाई दिए। यह दिखाता है कि इस पूरे प्रकरण से शाहरुख की लोकप्रियता और छवि पर कोई असर नहीं पड़ा। शाहरुख के चाहने वाले आज भी उनको उतना ही प्‍यार करते हैं।

मानशिंदे ने ऊपर देखा और बोले- ईश्‍वर महान है
हाई कोर्ट के खचाखच भरे हॉल में 9 घंटे से अधिक समय तक सुनवाई चलने के बाद जमानत का फैसला दोपहर बाद तीन बजे आया। भारत के पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने बताया, ‘हाई कोर्ट ने आर्यन, अरबाज और मुनमुन को जमानत दे दी है।’ आर्यन के एडवोकेट-ऑन-रिकॉर्ड सतीश मानशिंदे ने ऊपर की ओर देखा और बोला- ‘ईश्वर महान है’। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के मंत्री नवाब मलिक ने जमानत आदेश का स्वागत किया। यह भी कहा कि गिरफ्तारी के पहले ही दिन आर्यन को जमानत मिल जानी चाहिए थी।

क्‍या था मामला?
एनसीबी ने कॉर्डेलिया क्रूज जहाज पर चल रही रेव पार्टी पर छापा मारने के बाद आर्यन खान, अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा के साथ अन्य पांच को 2 अक्टूबर को हिरासत में लिया था। इसके अगले ही दिन उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया गया था। इस तरह आर्यन पिछले करीब एक महीने से घर से दूर हैं। इस दौरान शाहरुख खान आर्यन से मिलने जेल भी गए थे।

About bheldn

Check Also

कर्नाटक में फिर होगा राजनीतिक उठापटक? सिद्धारमैया के दावे से कयास तेज

नई दिल्ली कर्नाटक के पूर्व सीएम और विधानसभा में विपक्ष के नेता सिद्धारमैया ने दावा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *