बांग्लादेश में हिंदू मंदिरों पर फिर हमला, दिवाली से पहले बढ़ा सांप्रदायिक तनाव

ढाका

बांग्लादेश में हिंदू मंदिरों पर हमला लगातार जारी है। सोमवार देर रात नौगांव जिले के दो गांवों में अलग-अलग मंदिरों पर उन्मादी भीड़ ने हमला किया है। इस दौरान हमलावरों ने मंदिर में रखी देवी-देवताओं की मूर्तियों को नुकसान पहुंचाया। दिवाली और काली पूजा के ठीक पहले फिर से शुरू हुए हमलों ने बांग्लादेश में सांप्रदायिक तनाव को और बढ़ा दिया है। इससे पहले नवरात्रि के दौरान बांग्लादेश के कई शहरों में दुर्गा पांडालों और मंदिरों पर हमले हुए थे।

घटनास्थल पर देरी से पहुंचे प्रशासनिक अधिकारी
बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, हमले की खबर मिलने के बाद पोरशा उपजिला के अधिकारी मोहम्मद नजमुल हामिद रजा मंगलवार को घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि इस घटना में शामिल लोगों की तलाश शुरू कर दी गई है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। उन्होंने दावा किया कि इस इलाके में पहले कभी किसी हिंदू मंदिर में घुसकर देवी-देवताओं की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाने की घटना नहीं हुई है।

इस्कॉन मंदिर पर भी हो चुका है हमला
उन्मादियों ने 15 अक्टूबर को नोआखाली इलाके में इस्कॉन मंदिर पर हमला कर तोड़फोड़ की थी। इस दौरान हमलावरों ने मंदिर में मौजूद भक्तों के साथ मारपीट भी की थी। इस्कॉन मंदिर ने ट्वीट कर बताया था कि इस हमले में कई भक्त घायल हुए थे, जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। उन्मादियों की भीड़ ने मंदिर परिसर में जमकर आगजनी भी की थी।

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पांडालों पर हुआ था हमला
नवरात्रि में बांग्लादेश में कई दुर्गा पांडालों पर हमला कर तोड़फोड़ की गई थी। सोशल मीडिया पर यह खबर फैलाई गई कि कोमिला शहर में नानुआर दिघी झील के पास एक दुर्गा पूजा पंडाल में कुरान को कथित तौर पर अपवित्र किया गया था। जिसके बाद उन्मादियों की भीड़ ने चांदपुर के हाजीगंज, चट्टोग्राम के बंशखली और कॉक्स बाजार के पेकुआ में हिंदू मंदिरों और पांडालों पर हमला किया था।

शेख हसीना बोलीं- दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे
बांग्लादेशी मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, इस हिंसा में छह लोगों की मौत हुई थी। जिसके बाद प्रधानमंत्री शेख हसीना के निर्देश पर 22 जिलों में अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया था। शेख हसीना ने भी देश में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश करने वालों को कड़ी चेतावनी दी थी। उन्होंने वादा किया था कि कोमिला में सांप्रदायिक हिंसा के अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

अवामी लीग कर रही सौहार्द रैलियां
इस बीच, सत्तारूढ़ अवामी लीग पार्टी हालिया सांप्रदायिक हिंसा के खिलाफ मंगलवार को देशभर में सौहार्द रैलियां कर रही है और शांतिपूर्ण जुलूस निकाल रही है। अवामी लीग के महाचिव ओबैदुल कादिर ने यहां एक रैली में कहा कि डरें नहीं, हिंदू भाई-बहन। शेख हसीना और अवामी लीग आपके साथ हैं।

About bheldn

Check Also

‘न्योता मुझे नहीं उन 700+ किसान परिवारों को दो जिनके…’, शाह के ऑफर पर जयंत का जवाब

नई दिल्ली, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की जाट …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *