तालिबान ने किया काबुल का कबाड़ा, पेट भरने को सड़कों पर बिस्तर-पलंग तक बेच रहे लोग

काबुल

अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद चारों ओर अफरातफरी मची हुई है। काबुल में हालात ऐसे हो गए हैं कि लोग दो वक्त की रोटी खरीदने के लिए कुछ भी बेचने को तैयार हैं। यही कारण है कि काबुल की सड़कों पर अचानक सामान बेचने वालों की भारी भीड़ के कारण ट्रैफिक जाम लगने लगा है। लोग सड़कों के किनारे घर के कपड़े, बिस्तर, पलंग और बर्तन तक बेचने को मजबूर हैं।

बेरोजगारी और गरीबी ने बिगाड़े हालात
टोलो न्यूज के अनुसार, गरीबी और बेरोजगारी के कारण काबुल की सड़कों पर सामान बेचने वालों की संख्या काफी बढ़ गई है। काबुल में अधिकतर लोगों के पास खाना खरीदने के लिए भी पैसा नहीं बचा है। विक्रेताओं ने कहा कि उन्हें अपने परिवारों के लिए रोटी का एक टुकड़ा खोजने के लिए कुछ करना होगा। चूंकि कोई नौकरी नहीं है, इसलिए उन्हें सड़कों पर सामान बेचने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।

फुटपाथ पर घरों का सामान भी बेच रहे लोग
काबुल की सड़कों के किनारे फुटपाथ पर कब्जा जमाए ये दुकानदार सिर्फ नई चीजें ही नहीं बेच रहे हैं। इनमें उन लोगों की तादाद भी अच्छी खासी है, जो अपने घरों के सामान को बेचने आए हैं। इन दुकानदारों को उम्मीद है कि इससे उन्हें अपने परिवार के पेट भरने के लिए पैसा मिल सकेगा। तालिबान के सत्ता में आने के बाद से अफगानिस्तान के हालात दिन प्रतिदिन खराब होते जा रहे हैं।

दुकानदार बोले- परिवार को भी तो खिलाना है
सड़क किनारे दुकान सजाए वेंडर जावेद ने कहा कि हमारे लिए कोई दूसरा काम नहीं है, इसलिए हमें सड़कों पर सामान बेचना पड़ रहा है। एक दूसरे वेंडर मोहम्मद सलीम ने कहा कि कुछ नहीं बचा है, सभी लोग विक्रेता बन रहे हैं क्योंकि लोगों के पास कोई दूसरा विकल्प नहीं है। इस बीच काबुल के कई निवासियों ने सड़कों के फुटपाथों पर वेंडरों की बढ़ते अतिक्रमण को लेकर शिकायत की है।

पूरे अफगानिस्तान में हालात बेहद खराब
पझवोक न्यूज वेबसाइट के अनुसार, पूरे अफगानिस्तान में हालात बेहद खराब हैं। लोगों को अस्पतालों में इलाज तक नहीं मिल पा रहा है। इतना ही नहीं, दुकानों में आम बीमारियों की दवाईयां तक नहीं मिल रही हैं। बाहरी देशों से आयात ठप होने के कारण खाने-पीने की चीजों की भी कमी हो गई है। दूर-दराज के इलाके में तो लोग वस्तु विनिमय जैसे पुराने तरीकों को अपना रहे हैं।

काबुल के अधिकारी बोले- जल्द समस्या का हल निकालेंगे
काबुल के डिप्टी मेयर हमदुल्ला नेमानी ने कहा है कि हम सभी वेंडरों को ग्रीन स्पेस नाम से बनाए गए एरिया में शिफ्ट करने की योजना बना रहे हैं। इससे शहर में जाम नहीं लगेगा और साफ-सफाई भी बनी रहेगी। हालांकि इस योजना के पूरा होने में अभी कई महीनों का समय लग सकता है।

About bheldn

Check Also

भारत से सीमा विवाद के बीच US पर बरसा चीन, कहा- तुम्हारी जरूरत नहीं

नई दिल्ली चीन ने भारत और चीन के बीच बॉर्डर विवाद को लेकर किसी भी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *