उत्तर कोरिया में ‘दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम’? मोदी स्टेडियम से भी ज्यादा क्षमता का दावा

प्योंगयांग

उत्तर कोरिया अपने तानाशाह किम जोंग उन के सख्त नियमों के चलते दुनिया से अलग-थलग पड़ चुका है। देश का पर्यटन लगभग खत्म हो चुका है और जनता भुखमरी की कगार पर खड़ी है। किम जोंग उन का ध्यान देश के विकास के बजाय विनाशकारी हथियारों पर हैं। ऐसे में खेल के क्षेत्र में उत्तर कोरिया की कोई गिनती ही नहीं है। लेकिन दावा किया जा रहा है कि दुनिया का सबसे बड़ा स्पोर्ट्स स्टेडियम उत्तर कोरिया में है।

संभव है कि आप उत्तर कोरिया के ‘रुंगराडो 1 मई’ स्टेडियम से अनजान होंगे। जिसके दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम होने का दावा किया जा रहा है। डेलीस्टार की रिपोर्ट के मुताबिक इसका निर्माण 1989 में किया गया था जब किम जोंग-इल उत्तर कोरिया के सुप्रीम लीडर थे। इंटरनेट पर उपलब्ध तस्वीरों में स्टेडियम के अद्भुत आर्किटेक्चर को देखा जा सकता है। यह स्टेडियम उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग के 20.7 हेक्टेयर (51 एकड़) के क्षेत्र में बना है।

स्टेडियम में 1300 से अधिक कमरों का दावा
रिपोर्ट के अनुसार यह सफेद इमारत मैगनोलिया फूल के आकार की है। इसके शिखर की ऊंचाई जमीन से 60 मीटर (197 फीट) से भी अधिक है। आठ मंजिला स्टेडियम की कुल क्षेत्रफल 207,000 वर्ग मीटर से भी अधिक है। कहा जाता है कि इसमें 1300 से अधिक कमरे हैं, जिनमें इनडोर ट्रेनिंग एरिया और ऑफिस शामिल हैं। कुल मिलाकर यह बहुत बड़ा है लेकिन इन दावों की पुष्टि नहीं हुई है।

स्टेडियम की क्षमता को लेकर अलग-अलग दावे
इसकी क्षमता को लेकर अलग-अलग मत हैं। कुछ लोगों का कहना है कि दुनिया के सबसे अधिक क्षमता वाले इस स्टेडियम में 150,000 दर्शकों की क्षमता है। वहीं कुछ लोग इसकी क्षमता 114,000 बताते हैं जो भारत में बने आधिकारिक रूप से दुनिया के सबसे बड़े नरेंद्र मोदी स्टेडियम से कम है, जिसकी क्षमता 132,000 लोगों की है। हालांकि मीडिया के लिए उत्तर कोरिया के किसी भी दावे की पुष्टि करना बेहद मुश्किल है क्योंकि कड़े प्रतिबंधों वाले देश में मीडिया पर भी कई तरह के अंकुश हैं।

About bheldn

Check Also

PSL: ओपनिंग मैच से 24 घंटे पहले स्टेडियम में आग, कोरोना ने भी डाला डेरा

कराची, कोरोना महामारी के बीच पाकिस्तान सुपर लीग (PSL) 2022 सीजन का आगाज 27 जनवरी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *