भोपाल: हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर रानी कमलापति क्यों किया गया?

भोपाल

झीलों की नगरी भोपाल शहर… एक ऐसे इतिहास को अपने अंदर समेटे हुए है जिसे कम लोग ही जानते हैं। यहां की झीलें जितनी खूबसूरत हैं, उतनी ही रहस्यमयी भी। भोपाल में मौजूद बड़े तालाब और छोटे तालाब के बीच में एक 7 मंजिला महल है। हम बात कर रहे हैं रानी कमलापति महल की… यह महल इन दिनों काफी चर्चा में बना हुआ है। चर्चा इसलिए क्योंकि हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर रानी कमलापति किया जा रहा है।

कौन हैं रानी कमलापति… आखिर क्या है रानी कमलापति महल का इतिहास? ये सारी जानकारी यहां आपको बताने जा रहे हैं। देश का पहला आधुनिक हवाई अड्डे जैसी सुविधाओं वाला रेलवे स्टेशन भोपाल में बनकर तैयार हो गया है। इसका उद्घाटन पीएम मोदी 15 नवंबर को करने वाले हैं। लेकिन एक और खास बात है जिसने सबका ध्यान इस स्टेशन की ओर खींचा वो है इसका नया नाम… जी हां जिसे अब तक आप हबीबगंज रेलवे स्टेशन के नाम से जनते थे वो अब रानी कमलापति के नाम से जाना जाएगा।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को कहा कि भोपाल में सबसे आधुनिक हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर ‘गोंड रानी’ यानी रानी कमलापति के नाम पर रखा गया है। वह भोपाल की अंतिम हिंदू रानी थीं। हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम उनके नाम पर ‘रानी कमलापति’ रखा गया है।

About bheldn

Check Also

शिवराज लेंगे स्कूल खोलने का निर्णय: गृहमंत्री ने कहा पहले मुख्यमंत्री कोरोना की समीक्षा करेंगे

भोपाल मध्यप्रदेश में 31 जनवरी तक स्कूल बंद रखे जाने की टाइमलाइन नजदीक आती जा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *