29 वर्ष बाद पाकिस्तान में ICC का टूर्नामेंट, भारत को मिली इन 3 बड़े इवेंट की मेजबानी

दुबई

पाकिस्तान में दो दशक से भी अधिक समय बाद बड़ी क्रिकेट प्रतियोगिता की वापसी होगी जब देश 2025 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की चैंपियंस ट्रॉफी की मेजबानी करेगा। आईसीसी के बोर्ड ने मंगलवार को पाकिस्तान को 2025 चैंपियंस ट्रॉफी की मेजबानी सौंपी। साथ ही अमेरिका और वेस्टइंडीज को संयुक्त रूप से 2024 टी20 विश्व कप के मेजबान के रूप में चुना गया। यह उत्तर अमेरिका में पहली वैश्विक प्रतियोगिता होगी।

घोषणा के अनुसार भारत को अगले चक्र में आईसीसी की तीन प्रतियोगिताओं की मेजबानी मिली है जिसमें 2026 टी20 विश्व कप और 2031 में होने वाला 50 ओवर का विश्व कप शामिल है। भारत 50 ओवर के विश्व कप में श्रीलंका और बांग्लादेश के साथ सह मेजबान होगा। इसके अलावा भारत अकेले 2029 चैंपियंस ट्रॉफी की मेजबानी भी करेगा। विश्व कप 1996 का सह मेजबान पाकिस्तान 2009 में लाहौर में श्रीलंका की टीम बस पर आतंकी हमले के बाद देश में काफी अंतरराष्ट्रीय मैचों की मेजबानी नहीं कर पाया है।

चैंपियंस ट्रॉफी का आयोजन पिछली बार ब्रिटेन में 2017 में हुआ था और इस टूर्नामेंट की आठ साल बाद आईसीसी कैलेंडर में वापसी होगी। न्यूजीलैंड और इंग्लैंड हाल में पाकिस्तान के दौरे से हट गए थे और यह देखना होगा कि टीमें अंतत: देश की यात्रा के लिए तैयार होती हैं या नहीं। पाकिस्तान की यात्रा करने को लेकर हिचक की संभावना के बीच सूत्र ने कहा, ‘पूरी संभावना है कि उन्हें यूएई में मेजबानी करनी पड़ सकती है।’ खेल की संचालन संस्था ने मंगलवार को कहा कि आईसीसी के 14 सदस्य 2023 से 2031 के बीच आईसीसी पुरुष प्रतियोगिताओं की मेजबानी करेंगे।

आईसीसी ने विज्ञप्ति में कहा, ‘11 पूर्ण सदस्यों और तीन एसोसिएट सदस्यों को दो आईसीसी पुरुष क्रिकेट विश्व कप, चार आईसीसी पुरुष टी20 विश्व कप और दो आईसीसी पुरुष चैंपियंस ट्रॉफी की मेजबानी के लिए चुना गया है।’ बयान के अनुसार, ‘अमेरिका और नामीबिया पहली बार आईसीसी विश्व कप प्रतियोगिता की मेजबानी करेंगे। आस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, इंग्लैंड, आयरलैंड, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, स्कॉटलैंड, दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका, वेस्टइंडीज और जिंबाब्वे पहले भी बड़ी प्रतियोगिताओं की मेजबानी कर चुके हैं और अगले दशक में दोबारा ऐसा करेंगे।’

आईसीसी चेयरमैन ग्रेग बार्कले ने बोली सौंपने वाले प्रत्येक सदस्य को धन्यवाद दिया और सफल बोली लगाने वालों को बधाई दी। बार्कले ने कहा, ‘आठ प्रतियोगिता की मेजबानी 14 सदस्यों द्वारा किया जाना हमारे खेल की वैश्विक प्रकृति को दर्शाता है।’ उन्होंने कहा, ‘इतने सारे पिछले मेजबानों के पास वापस लौटना शानदार है लेकिन इस प्रक्रिया को लेकर जो सबसे रोमांचक है वह वे देश हैं जो पहली बार आईसीसी प्रतियोगिताओं की मेजबानी करेंगे। इसके अमेरिका भी शामिल है।’

मेजबानों का चयन प्रतिस्पर्धी बोली प्रक्रिया के जरिए किया गया जिसकी निगरानी बोर्ड की उप समिति ने की। इस उप समिति के अध्यक्ष मार्टिन स्नेडेन थे जबकि इसमें भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली और वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष रिकी स्केरिट भी शामिल थे। आईसीसी बोर्ड ने समिति की सिफारिशों को स्वीकार किया जिसने आईसीसी प्रबंधन के साथ प्रत्येक बोली की गहन समीक्षा की। अगले चक्र की आईसीसी महिला और अंडर 19 प्रतियोगिताओं के मेजबान की पहचान के लिए अगले साल की शुरुआत में इसी तरह की प्रक्रिया अपनाई जाएगी।

About bheldn

Check Also

बावुमा और डर डुसेन की धमाकेदार सेंचुरियां, भारत के खिलाफ बनाई रिकॉर्ड साझेदारी

साउथ अफ्रीका के लिए बुधवार को पार्ल में सीरीज के पहले वनडे इंटरनेशनल में कप्तान …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *