अगस्ता डील: तिहाड़ में बंद आरोपी क्रिश्चियन मिशेल 3 दिन से भूख हड़ताल पर

नई दिल्ली,

अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर डील मामले में तिहाड़ जेल में बंद कथित बिचौलिया रहे क्रिश्चियन मिशेल ने गुरुवार से खाना नहीं खाया है. जेल प्रशासन के अनुसार, क्रिश्चियन मिशेल के स्वास्थ्य की निगरानी की जा रही है. अगस्ता वेस्टलैंड चॉपर डील घोटाले में आरोपी क्रिश्चियन मिशेल प्रत्यर्पित कर भारत लाया गया था. क्रिश्चियन मिशेल ने

बता दें कि दुबई से प्रत्यर्पित कर लाए गए क्रिश्चियन मिशेल को ईडी ने 22 दिसंबर 2018 को गिरफ्तार किया था. मिशेल को ईडी के मामले में 5 जनवरी 2019 को न्यायिक हिरासत में भेजा गया था. उसे घोटाले के संबंध में सीबीआई के मामले में भी न्यायिक हिरासत में भेजा गया.

क्रिश्चियन मिशेल को यूएई में गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद उसे चार दिसंबर 2018 को प्रत्यर्पित कर भारत लाया गया था. यहां अगले दिन उसे अदालत में पेश किया गया, जहां सीबीआई को उससे हिरासत में पूछताछ की अनुमति दी गई, इसके बाद में उसे ईडी ने गिरफ्तार किया.

क्रिश्चियन मिशेल के वकीलों ने सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय पर गंभीर आरोप लगाए थे. वकीलों ने कहा था कि क्रिश्चियन मिशेल को पूरी तरह से काउंसर एक्सेस नहीं मिल पा रहा है. वकीलों ने यह भी कहा था कि तिहाड़ जेल परिसर में मौजूद ईडी और सीबीआई के अधिकारी दखल देने की कोशिश करते हैं.

क्या था अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला
यूपीए सरकार ने फरवरी 2010 में 12 वीवीआईपी हेलीकॉप्टर की खरीद के लिए अगस्ता वेस्टलैंड के साथ करीब 3600 करोड़ रुपये की डील की थी. अगस्ता वेस्टलैंड की पैरेंट कंपनी Finmeccanica थी, जो अब Leonardo Spa बन गई. इसमें इटली की जांच एजेंसियों ने 2012 में 360 करोड़ रुपये के कमीशन के भुगतान का आरोप लगाया.

आरोप लगा कि कंपनी ने टेंडर पाने के लिए भारतीय अधिकारियों को रिश्वत दी. मामला बढ़ने के बाद सरकार ने कंपनी के साथ डील रद्द कर दी. फरवरी 2013 में इसकी जांच सीबीआई को सौंपी गई. पिछले साल सितंबर में सीबीआई ने इस मामले में चार्जशीट दाखिल की थी और इसमें तत्कालीन वायुसेना प्रमुख संदीप त्यागी को भी आरोपी बनाया गया था.

About bheldn

Check Also

वैक्‍सीनेशन कितना जरूरी? तीसरी लहर में जिनकी मौत उनमें 60% को या तो कोई टीका नहीं या एक डोज

नई दिल्ली कोविड-19 महामारी की मौजूदा लहर के दौरान मरने वालों में 60 फीसदी लोग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *