वैज्ञानिकों ने कहा- दुनिया में तबाही 2.0 ला सकता है ओमीक्रोन, न्यूयॉर्क में आपातकाल

वॉशिंगटन

न्यूयॉर्क की गवर्नर ने शुक्रवार को ‘आपातकाल की स्थिति’ घोषित कर दी क्योंकि अप्रैल 2020 के बाद से कोरोना संचरण दर अपने उच्चतम शिखर पर पहुंच गई। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि बोत्सवाना में पहली बार सामने आया कोविड का ‘चिंताजनक’ वैरिएंट ‘आ रहा है।’ महामारी विज्ञानियों का कहना है कि यह वैरिएंट बेहद ‘चिंताजनक’ है और ‘महामारी 2.0’ को बढ़ावा दे सकता है। विशेषज्ञों की चेतावनी के बाद ही उन्होंने ‘आपातकाल की स्थिति’ की घोषणा की है।

डेलीमेल से बात करते हुए विशेषज्ञों ने देशों से यात्रा प्रतिबंध लागू करने का आग्रह किया है। अमेरिका ने म्यूटेंट स्ट्रेन ओमीक्रोन को आने से रोकने के लिए आठ दक्षिणी अफ्रीकी देशों की उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है जो सोमवार से लागू होगा। शुक्रवार रात दक्षिण अफ्रीका से एक फ्लाइट नीदरलैंड्स में उतरी, जिसमें दर्जनों लोग ओमीक्रोन से संक्रमित थे। सभी यात्रियों को क्वारंटीन कर दिया गया है और उनका टेस्ट किया जा रहा है।

3 दिसंबर से लग सकता आंशिक लॉकडाउन!
एम्पायर स्टेट की गवर्नर कैथी होचुल का कहना है कि अगर अस्पताल की क्षमता खतरनाक रूप से कम होती है तो 3 दिसंबर से सभी गैर-जरूरी प्रक्रियाओं को स्थगित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अगर किसी अस्पताल के पास 10 फीसदी से कम ‘स्टाफ बेड क्षमता’ बचती है तो उसे गैर-जरूरी या वैकल्पिक सुविधाओं को रद्द करने की अनुमति दी जाएगी। कोविड संचरण की दर अप्रैल 2020 के बाद से अपने उच्चतम स्तर पर है जिसे देखते हुए उन्होंने ‘आपदा आपातकाल’ की घोषणा की है।

‘आ रहा है ओमीक्रोन’
होचुल ने कहा कि नए ओमीक्रोन संस्करण का अभी तक न्यूयॉर्क राज्य में पता नहीं चला है, यह आ रहा है। सीडीसी ने कहा कि उन्हें अमेरिका में अभी तक किसी भी ओमीक्रोन मामले का पता नहीं चला है। उन्हें विश्वास है कि वह संक्रमितों का पता जल्द ही लगा लेंगे। अमेरिका के अलावा श्रीलंका, पाकिस्तान जैसे एशियाई देश भी अफ्रीकी देशों पर ट्रैवल बैन लगा चुके हैं। पाकिस्तान में कोविड-19 से निपटने और इसके मद्देनजर नीतियां बनाने वाला एनसीओसी प्रमुख संगठन है।

About bheldn

Check Also

‘न्योता मुझे नहीं उन 700+ किसान परिवारों को दो जिनके…’, शाह के ऑफर पर जयंत का जवाब

नई दिल्ली, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की जाट …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *