ओमीक्रोन के लक्षण बिल्कुल अलग और खतरनाक, मरीज को देखने वाले डॉक्टर ने बताया

नई दिल्ली

कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमीक्रोन ने पूरी दुनिया में एक बार फिर भूचाल ला दिया है। मार्च 2020 के बाद अभी कुछ महीने पहले से ही जिंदगी पटरी पर लौट रही थी। साउथ अफ्रीका के डॉक्टरों ने इलाज के दौरान जो कुछ समझा वो काफी डराने वाला है। डॉक्टर्स का कहना है कि इस नए वेरिएंट को हल्के में बिल्कुल नहीं लेना चाहिए। ये डेल्टा वेरिएंट से बिल्कुल अलग है और उससे ज्यादा खतरनाक भी है। विश्व के तमाम देशों ने नए वेरिएंट के कारण यात्रा प्रतिबंध लागू कर दिए हैं और भारत ने भी नई गाइडलाइंस जारी कर दी हैं।

साउथ अफ्रीका के डॉक्टरों ने की रिसर्च
दक्षिण अफ्रीका के डॉक्टरों ने ओमीक्रोन से पीड़ित लोगों में पहले से अलग लक्षण देखें हैं। डॉक्टरों के मुताबिक ओमीक्रोन से संक्रमित लोग डेल्टा स्ट्रेन से पीड़ित लोगों में बहुत अलग लक्षण दिखा रहे हैं। डॉक्टर ने कहा है कि नए वायरस की संभावना के लिए सरकारी वैज्ञानिकों को सचेत किया है। दक्षिण अफ्रीका मेडिकल एसोसिएशन की अध्यक्ष एंजेलिक कोएत्ज़ी ने कहा कि ओमीक्रोन से पीड़ित रोगियों को थकान, सिर और शरीर में दर्द और कभी-कभी गले में खराश और खांसी की शिकायत हो रही है।

डेल्टा वेरिएंट से बिल्कुल अलग
उन्होंने कहा कि अगर हम डेल्टा वेरिएंट से तुलना करते हैं तो डेल्टा संक्रमण में उच्च नाड़ी दर का कारण बना, जिसके परिणामस्वरूप कम ऑक्सीजन का स्तर और गंध और स्वाद का नुकसान हुआ। दक्षिण अफ्रीका की राजधानी प्रिटोरिया ने कोविड रोगियों के हफ्तों के बाद, कोएत्ज़ी ने कहा कि उसने अचानक रोगियों को 18 नवंबर को लक्षणों की शिकायत करना शुरू कर दिया। उसने तुरंत कोविड पर सरकार की मंत्रिस्तरीय सलाहकार परिषद को सूचित किया- 19 और प्रयोगशालाओं ने अगले सप्ताह एक नए संस्करण की पहचान की।

अभी और रिचर्स की जरुरत
एंजेलिक कोएत्ज़ी ने कहा कि ये अलग-अलग लक्षण डेल्टा के नहीं हो सकते हैं। ये बीटा के समान हैं या यह फिर ये एक नई टेंशन हो सकती है। डॉक्टर ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि मुझे नहीं लगता कि यह खत्म हो जाएगा लेकिन मुझे लगता है कि उम्मीद है कि यह एक हल्की बीमारी होगी। अभी के लिए हमें विश्वास है कि हम इसे संभाल सकते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन नए उत्परिवर्तन का विश्लेषण कर रहा है और कहा है कि यह कहना जल्दबाजी होगी कि यह कितना संक्रामक और गंभीर है।

About bheldn

Check Also

यूपी में फिर योगी सरकार बनी तो पलायन कर लूंगा…. मुनव्वर राना बोले, हालात ठीक नहीं

लखनऊ उत्तर प्रदेश चुनाव के प्रथम चरण का मतदान 10 फरवरी को है। ऐसे में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *