Omicron की टेंशन के बीच अफ्रीकी देशों से 15 दिन में मुंबई आए 1000 यात्री

नई दिल्ली,

पूरी दुनिया में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट ने दहशत का माहौल बना दिया है. इसे पिछले सभी वैरिएंट की तुलना में ज्यादा ताकतवर और खतरनाक माना जा रहा है. अब इस खतरे के बीच देश की मायानगरी मुंबई के लिए भी एक चिंता की बात है. पता चला है कि पिछले 15 दिनों में अफ्रीकी देशों से कुल 1000 यात्री मुंबई में लैंड हुए हैं.

ये अहम जानकारी BMC के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी है. उनकी तरफ से बताया गया है कि पिछले 15 दिनों में 1000 यात्री मुंबई में लैंड कर चुके हैं. ये सभी लोग अफ्रीकी देशों से आ रहे थे जहां पर ओमिक्रॉन का खतरा सबसे ज्यादा बना हुआ है.

न सबका डेटा-न टेस्टिंग
अभी के लिए इन 1000 यात्रियों में से बीएमसी के पास सिर्फ 466 लोगों का डेटा मौजूद है. इसमें भी 100 लोगों का कोविड टेस्ट करवाया गया है. अब इन लोगों में से जो भी कोविड पॉजिटिव पाया जाएगा, उनकी रिपोर्ट जीनोम सीक्वेंस के लिए भेजी जाएगी. जोर देकर ये भी कहा गया है कि इन देशों से आए संक्रमित लोगों को सेवन हिल्स अस्पताल में क्वारनटीन में रखा जाएगा.

अब इस बड़े खतरे के बीच राज्य सरकार ने अपने स्तर पर बड़ी तैयारी शुरू कर दी है. बताया जा रहा है कि बीएमसी ने ओमिक्रॉन खतरे के बीच पांच अस्पताल और जंबो सुविधा का इंतजाम कर रखा है. अभी के लिए पांच जंबो सेंटर सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं. कहा जा रहा है कि आने वाले दिनों में स्क्रीनिंग को और ज्यादा कड़ा कर दिया जाएगा.

वैसे अब एक तरफ बीएमसी द्वारा हर जरूरी कदम उठाया जा रहा है तो वही दूसरी एक दिसंबर से पहली से चौथी कक्षा वाले बच्चों के भी स्कूल खोले जा रहे हैं. पहले खबरें थीं कि ओमिक्रॉन वैरिएंट की वजह से बच्चों के स्कूल अभी नहीं खुलेंगे. लेकिन राज्य सरकार के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने स्पष्ट कर दिया है कि अब किसी वैरिएंट की वजह से फैसले को नहीं बदला जाएगा. ऐसे में स्कूल तो एक दिसंबर से ही खुलने जा रहे हैं.Live TV

About bheldn

Check Also

यूपी के डिप्टी सीएम के विरोध वाला VIDEO झूठा, भाजपा ने कहा- दुष्प्रचार कर रहा विपक्ष

कौशांबी, उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का विरोध कर रही कुछ महिलाओं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *