कोरोना का ‘जानलेवा’ असर, 2 सालों में 20 हजार से भी अधिक कारोबारियों ने की आत्महत्या!

नई दिल्ली

सरकार ने बताया कि राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2019 एवं 2020 के दौरान 20,768 कारोबारियों ने आत्महत्या की थी। लोकसभा में सुरेश नारायण धानोरकर और के नवासखनी के प्रश्न के लिखित उत्तर में गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा ने यह जानकारी दी।

मिश्रा ने बताया कि एनसीआरबी की ‘भारत में दुर्घटनाएं एवं आत्महत्याएं’ में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2019 में कुल 9,052 कारोबारियों ने आत्महत्या की और 2020 में कुल 11,716 कारोबारियों ने आत्महत्या की। इस प्रकार से वर्ष 2019 एवं 2020 के दौरान 20,768 कारोबारियों ने आत्महत्या की थी। यह अवधि कोरोना वायरस महामारी से प्रभावित रही है।

धानोरकर और नवासखनी ने यह भी पूछा था कि क्या यह सच है कि आत्महत्या करने वाले अधिकांश कारोबारी सूक्ष्म, लघु और माध्यम उद्यमों से जुड़े हुए थे और इस प्रवृति को रोकने के लिये क्या कदम उठाये गए हैं? इस पर गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा ने कहा कि इस प्रकार का अनुमान लगाना संभव नहीं है क्योंकि एनसीआरबी की रिपोर्ट में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों के कारोबारियों के संबंध में आत्महत्या के आंकड़ों को पृथक रूप से श्रेणीबद्ध नहीं किया जाता है।

About bheldn

Check Also

2 CM, मुस्लिम समेत 3 डेप्युटी CM…औवैसी का बिहार वाला फॉर्म्युला UP में भी होगा कामयाब?

लखनऊ उत्तर प्रदेश की राजनीति में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *