भेल में सेफ्टी शूज की कीमत को लेकर कर्मचारियों में रोष

भोपाल

भेल कारखाने में हाल ही में कर्मचारियों को मिलने वाले सेफ्टी शूज के विषय पर भेल प्रबंधन व तीनों यूनियनों की बैठक सम्पन्न हुई जिसमें हाई लाइफ व ब्लैकबर्न कंपनी के एक-एक सेफ्टी शूज को फ ाइनल किया गया जिससे कर्मचारियों में रोष व्याप्त है। इन जूतों की ऑनलाइन कीमतें 500 रुपयों से भी कम हैं जबकि 8 वर्ष पूर्व जूतों के एवज में 1400 रुपये भी कर्मचारियों के खाते में डालेे गये थे।

गौरतलब है कि पिछली बार भी 500 रूपये के लगभग ही जूते कर्मचारियों को बांटें गये थे। कर्मचारियों में रोष इसलिए भी है क्योंकि सेफ्टी शूज मिलनें का नियम प्रत्येक वर्ष का है फि र भी यूनियनों की घोर लापरवाही के कारण 4 वर्ष में सिर्फ 500 रुपये के जूते ही कर्मचारियों को प्राप्त हो रहे हैं । इतना ही समय स्वेटर मिलने में लग गया। दूसरा कारण नॉन ब्राण्डेड शूज का मिलना, जबकि भेल की ही दूसरी यूनिटों में एलनकूपर जैसे ब्राण्डेड शूज कर्मचारियों को ऐसे ही टेन्डर के आधार पर मिलते हैं। सोचने की बात है कि भारत में भेल एक ही कंपनी है जहां दूसरी यूनिटों में ब्राण्डेड शूज दिये जाते हैं वहीं भेल की मदर यूनिट में नॉन ब्राण्डेड आउट निर्धारित कीमतों से भी कम में शूज दिया जा रहा है।

भेल एचएमएस यूनियन के नेता योगेश जाटव ने बताया कि कर्मचारियों को निर्धारित समय व कीमतों के अनुसार ही सेफ्टी शूज मिलने चाहिये। तीनों प्रतिनिधि यूनियन की अनदेखी कर्मचारियों पर भारी पड़ रही है। दूसरी यूनिटों में उसी निर्धारित कीमतों में टेण्डर प्रोसेस के बाद ही ब्राण्डेड शूज मिलते हैं पर क्या कारण है कि भेल भोपाल में वहीं कंपनियां टेन्डर तक नहीं भरतीं और कर्मचारियों को नॉन ब्राण्डेड व निर्धारित कीमत से भी कम के सेफ्टी शूज दिये जाने पर तीनों यूनियनें सहर्ष सहमति दे देतीं हैं व 4 साल में एक बार जूते देने पर बचे अमाउंट का जिक्र तक नहीं करतीं।

About bheldn

Check Also

छत्तीसगढ़ शाखा खेल मैदान भेल चैंपियनशिप क्रिकेट ट्रॉफी टूर्नामेंट 2022

भोपाल छत्तीसगढ़ शाखा खेल मैदान भेल चैंपियनशिप क्रिकेट ट्रॉफी टूर्नामेंट 2022… 20 जनवरी दिन गुरुवार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *