उदयपुर हत्याकांड में 40 लोग एजेंसियों की रडार पर, हत्या में इस्तेमाल खंजर पर नया खुलासा

उदयपुर

राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की 28 जून को हुई हत्या के बाद लगातार नए खुलासे हो रही है। इसी बीच एक नई अपडेट सामने आई है। बताया जा रहा है कि उदयपुर घटना में हत्यारों ने जिस हथियार (खंजर) का इस्तेमाल किया , उसे कानपुर से लाया गया था। इसके बाद उदयपुर की एक फैक्ट्री में इस खंजर को धार लगाई गई थी। इतना ही नहीं, यह भी जानकारी मिली है कि हथियार को तैयार करने के बाद इसे एक वॉट्सएप ग्रुप पर भी शेयर किया गया था, जिसमें पाकिस्तान के भी कुछ नंबर थे। यानी यह वारदात पूरी तरह सोची समझी साजिश थी।

घटना का PFI कनेक्शन, दंगे भड़काने को थी कोशिश
उदयपुर घटना का कानपुर कनेक्शन सामने आने के बाद यह संदेह भी गहराता जा रहा है कि घटना का मकसद दंगे भड़काना ही था। चूंकि कानपुर हिंसा में PFI (पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) का नाम सामने आया था, लिहाजा फिर से कट्टर इस्लामिक संगठन PFI सुर्खियों में है। फिलहाल मामले की तह तक पहुंचने के लिए जांच एजेंसियां जुटी हुई है।

उदयपुर में 40 लोग रडार पर
मीडिया रिपोटर्स से मिली जानकारी के अनुसार उदयपुर में 40 संदिग्ध लोग जांच एजेंसियों की रडार पर है। मामले में राजस्थान SIT और ATS के अलावा NIA भी जांच में जुटी है। पूरे मामले में आतंकी संगठनों का हाथ होने की बात चूंकि बार बार सामने आ रही है, लिहाजा गंभीरता से इस पूरे मामले को इंवेस्टिगेट किया जा रहा है।

About bheldn

Check Also

ओडिशा में बीजेपी की नई सरकार के एक मंत्री नशे में झूमते आए नजर, कांग्रेस ने वीडियो जारी कर पूछा सवाल

भुवनेश्वर अपने सबसे युवा मंत्री के एक वीडियो से ओडिशा में बीजेपी फंस गई है। …