खुल गया ​बेनितो हुआरेज अंडरपास, दिल्ली से गुरुग्राम जाना हुआ आसान

नई दिल्ली

बेनितो हुआरेज अंडरपास को औपचारिक रूप से जनता की आवाजाही के लिए रविवार से शुरू कर दिया गया है। शनिवार को उपमुख्यमंत्री और पीडब्ल्यूडी मंत्री मनीष सिसोदिया ने 1200 मीटर लंबे इस शानदार अंडरपास का उद्घाटन किया। सिसोदिया ने कहा कि इस अंडरपास के शुरू होने से रोजाना दिल्ली-गुरुग्राम के बीच सफर करने वाले लाखों लोगों को फायदा होगा और उनके समय की बचत होगी। उन्होंने कहा कि इस अंडरपास के शुरू होने से यहां रोजाना ट्रैफिक के कारण बर्बाद होने वाले 2181 लीटर ईधन की बचत होगी। सालाना इससे लोगों के 18 करोड़ रुपयों की बचत होगी। रोजाना 5.11 टन कार्बनडाईऑक्साइड गैस के उत्सर्जन में भी कमी आएगी। इससे प्रदूषण कम होगा।

जानें क्या है अंडरपास की खासियत
सिसोदिया ने कहा कि बेनितो हुआरेज अंडरपास दिल्ली का पहला ऐसा अंडरपास है जिसे ‘Y’ शेप में बनाया गया है। यह शानदार इंजीनियरिंग का परिणाम है। इस अंडरपास से न केवल आसपास के लोगों को बल्कि रोजाना दिल्ली और गुरुग्राम के बीच सफर करने वाले लाखों लोगों को भी फायदा होगा। धौलाकुआं, सरदार पटेल मार्ग सहित एयरपोर्ट के बीच सुबह-शाम होने वाले ट्रैफिक में कमी आएगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का एक सपना है कि दिल्ली के स्कूल-अस्पताल शानदार बनें, तो वहीं उनका दूसरा सपना है कि दिल्ली की सड़कें शानदार हों। शानदार होने के साथ-साथ उनकी खूबसूरती भी बढ़े। दिल्ली की एक-एक सड़कें ऐसी दिखे कि दिल्ली के लोगों को उनपर गर्व हो। इस दिशा में बेनितो हुआरेज मार्ग पर स्थित ये अंडरपास दिल्ली के यातायात और परिवहन को सुगम बनाने के विजन का हिस्सा है।

दिल्ली की सड़कें बन रही हैं शानदार
उन्होंने कहा कि हमारा मकसद दिल्ली की सड़कों को सुंदर बनाकर लोगों के एक जगह से दूसरी जगह जाने के अनुभव को बेहतर बनाना है। इसे लेकर हमने शानदार योजनाएं बनाई हैं और दिल्ली में पीडब्ल्यूडी के अंतर्गत आने वाले 1400 किमी की सड़कों को शानदार बनाने का काम किया जा रहा है। जनता यह देख रही है कि पीडब्ल्यूडी की सड़कें शानदार हो रही हैं। इसे देखते हुए जनता हमें एमसीडी में भी लाकर एमसीडी की सड़कों को शानदार बनाने का मौका देंगे।

7 में से 6 पॉइंट्स पर जलजमाव की शिकायत नहीं आई
उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री केजरीवाल के नेतृत्त्व में हम नई चीजें बनाने के साथ-साथ पुरानी चीजों को भी बेहतर बनाने का काम कर रहे हैं। इस दिशा में हमने दिल्ली में पिछले साल गंभीर जलजमाव वाले क्षेत्रों में जलजमाव की समस्या को दूर करने का काम किया है। पिछले दिनों भारी बारिश के बाद भी उन 7 में से 6 पॉइंट्स पर जलजमाव की कोई शिकायत नहीं आई और जिस 1 पॉइंट पर थोड़ी समस्या हुई, उसे भी दूर कर लिया गया है।

इन रास्तों पर अब नहीं मिलेगा जाम
बेनितो हुआरेज अंडरपास से अब दक्षिणी दिल्ली में रहने वालों को ट्रैफिक से होने वाली परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। इस अंडरपास से राव तुला राम (आरटीआर) मार्ग, रिंग रोड और धौलाकुआं पर ट्रैफिक का भार कम होगा। अभी गुरुग्राम और एयरपोर्ट की ओर से एम्स, मोतीबाग और सेंट्रल दिल्ली जाने के लिए धौलाकुआं से होकर आना-जाना पड़ता है। अंडरपास शुरू होने के बाद ये लोग सीधे आउटर रिंग रोड होते हुए बीजे मार्ग और वहां से अंडरपास होते हुए एम्स या मोती बाग की ओर जा सकेंगे। यह अंडरपास दुर्गा बाई देशमुख साउथ कैंपस मेट्रो स्टेशन से वाई शेप में दो दिशाओं में बनाया गया है। एक हिस्सा सैन मार्टिन रोड और दूसरा रिंग रोड पर निकला है। अंडरपास शुरू हो जाने से धौलाकुआं पर ट्रैफिक का दबाव कम हो जाएगा। इतना ही नहीं परियोजना के एक हिस्से के रूप में सैन मार्टिन मार्ग और बेनितो हुआरेज मार्ग पर अंडरपास के दो हिस्सों को जोड़ने वाला एक 670 मीटर स्काईवॉक भी बनाया गया है।

अंडरपास क्यों है खास
– प्रोजेक्ट की कुल कीमत 143.78 करोड़
– 1200 मीटर लंबा अंडरपास Y शेप में 2 लेन का है
– मॉनसून में अंडरपास में पानी न भरे, इसके लिए दोनों ओर कैरिज-वे हैं
– अंडरपास की खूबसूरती को बढ़ाने के लिए दीवारों और छत पर आर्टवर्क किया गया है
– अंडरपास को ऊपर की ओर से किया गया है कवर
– बरसाती पानी को रोड से अंडरपास में आने से रोकने के लिए रोड हंप डिजाइन
– अंडरपास में बेहतर रोशनी के लिए एलईडी स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था

अंडरपास से क्या होगा फायदा
– रोजाना 2-3 लाख लोगों को ट्रैफिक जाम से मिलेगी निजात
– रोजाना 2181 लीटर ईधन की होगी बचत, जिससे 5.11 टन कार्बन डाईआक्साइड गैस का उत्सर्जन होगा कम
– रोजाना लगभग 3624 मैनआवर की होगी बचत
– बीजे मार्ग से अंडरपास में जाने पर सैन मार्टिन मार्ग और एयरपोर्ट की तरफ रिंग रोड पर भी जा सकेंगे लोग
– अंडरपास से एयरपोर्ट की ओर से आने वाली गाड़ियों को रिंग रोड पर राव तुलाराम फ्लाईओवर के नीचे लगने वाले जाम से मिलेगी राहत
– एयरपोर्ट की ओर से आकर यहां दाएं मुड़ने वाला ट्रैफिक बीजे मार्ग से अंडरपास से सैन मार्टिन मार्ग होते हुए निकल जाएगा
– अंडरपास से राव तुलाराम फ्लाईओवर के नीचे के ट्रैफिक को भी कम किया जा सकेगा
– अंडरपास के ऊपर स्काईवॉक है, जो बीजे मार्ग से साउथ कैंपस मेट्रो स्टेशन को जोड़ेगा और सत्य निकेतन मार्ग को फुटओवर ब्रिज से जोड़ेगा
– बेनितो हुआरेज मार्ग अंडरपास से धौला कुआं चौराहे पर ट्रैफिक लोड में कम से कम 25% की होगी कम

About bheldn

Check Also

‘केजरीवाल को कुछ सुविधा चाहिए तो इसमें ईडी की कोई भूमिका नहीं…’, राउज एवेन्यू कोर्ट की टिप्पणी

नई दिल्ली, दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने शुक्रवार को तिहाड़ जेल के अधीक्षक से …