15 साल का दोस्त यूसुफ बना उमेश की हत्या की वजह, अंतिम संस्कार में भी हुआ शामिल

अमरावती

महाराष्ट्र के अमरावती में उदयपुर के कन्हैयालाल हत्याकांड जैसी ही वारदात हुई। यह घटना कन्हैयालाल की हत्या से पहले हुई लेकिन यह छिपी रही। उमेश कोल्हे ने भी बीजेपी नेता नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट किया था। इस पोस्ट को लेकर उनकी हत्या की साजिश रची गई और सरेराह उनकी चाकूओं से गोदकर हत्या कर दी गई। इस मामले में खुलासा हुआ है कि वॉट्सऐप पर की गई उमेश कोल्हे की पोस्ट को युसुफ खान ने वायरल किया था। हैरानी वाली बात है कि युसुफ उमेश का अच्छा दोस्त था।

उमेश कोल्हे ने जिस वॉट्सऐप ग्रुप में नूपुर शर्मा से संबंधित पोस्ट किए थे, उसमें आरोपी डॉ. यूसुफ खान बहादुर खान भी था। उमेश ने नूपुर शर्मा की यह पोस्ट खुद नहीं लिखी थी बल्कि उनके समर्थन में आई पोस्ट को ग्रुप में फारवर्ड किया था। युसुफ की इस पोस्ट का युसुफ ने चुपचाप से स्क्रीन शॉट निकाला और उसे अपने मुस्लिम सदस्यों वाले ग्रुपों में पोस्ट किया।

वायरल हुईं उमेश की पोस्ट
युसुफ के स्क्रीन शॉट वाली पोस्ट कई ग्रुपों में फॉरवर्ड हुईं और यह वायरल हो गई। उसके बाद युसुफ की हत्या की साजिश रची गई। पुलिस ने बताया कि युसुफ पेशे से पशु चिकित्सक है। उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया है। अगर वह इस तरह से उमेश की पोस्ट का स्क्रीन शॉट लेकर वायरल नहीं करता तो शायद युसुफ की हत्या न होती।

2006 से थी दोस्ती
उमेश के भाई महेश ने बताया कि यूसुफ खान और उनके भाई उमेश के अच्छे संबंध थे। दोनों एक दूसरे को 2006 से जानते थे। दोनों में दोस्ती थी। युसुफ ने उमेश से दोस्ती के नाम पर जो दगा दिया है वह झकझोर देने वाला है। वहीं हत्याकांड के मास्टरमाइंड की गिरफ्तारी पर महेश ने कहा कि जांच की गति निस्संदेह बढ़ेगी। इसमें शामिल अन्य लोगों को भी पकड़ा जाएगा। हमारी एक मांग है कि सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में हो और हत्यारों को अधिकतम सजा दी जाए।

ये हुए गिरफ्तार
पुलिस ने मुदस्सर अहमद उर्फ सोनू रजा शेख इब्राहिम (22), शाहरुख पठान उर्फ बादशाह हिदायत खान (25), अब्दुल तौफिक उर्फ नानू शेख तस्लीम (24), शोएब खान उर्फ भूर्या साबिर खान (22), अतिब राशिद आदिल राशिद (22) को गिरफ्तार किया था। रविवार को यूसुफ खान बहादुर खान (44) और हत्या के मास्टरमाइंड को भी गिरफ्तार किया गया है।

उमेश कोल्हे की हत्या का मामला एनआईए को भी सौंप दिया गया है। एनआईए की टीम अमरावती पहुंची हैं और मामले की जांच कर रही है। कोल्हे की हत्या एक हफ्ते पहले हुई थी जब राजस्थान के उदयपुर में दो लोगों ने एक दर्जी की हत्या कर दी थी और ऑनलाइन वीडियो पोस्ट करते हुए कहा था कि वे इस्लाम के अपमान का बदला ले रहे थे। एनआईए उदयपुर के दर्जी कन्हैया लाल की हत्या की भी जांच कर रही है।

About bheldn

Check Also

‘मैं धर्मनिरपेक्ष हूं, यादव-मुसलमानों के लिए भी काम करूंगा’, बयान पर हंगामे के बाद JDU सांसद की सफाई

भागलपुर, जेडीयू के नवनिर्वाचित सांसद देवेश चंद्र ठाकुर ने कुछ दिन पहले कहा था कि …