भागकर बाइक पर बदले कपड़े, देश छोड़ने की थी तैयारी, क्या था रियाज-गौस के भागने का पूरा प्लान

जयपुर

उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की हत्या करने के बाद उसके हत्यारे रियाज और गौस तुरंत मौके से फरार हो गए थे। उनका मानना था कि उन्हें पुलिस पकड़ नहीं पाएगी और वो आसानी से देश से बाहर चले जाएंगे। जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ रही ये चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। कन्हैयालाल की हत्या के बाद रियाज और गौस का क्या प्लान था, इसे लेकर अहम खुलासा हुआ है। दरअसल कन्हैयालाल की हत्या एक सोची समझी प्लाानिंग थी, जिसमें हत्या के बाद आगे हत्यारों को क्या करना था, सब तय था।

देश छोड़ने की तैयारी में थे रियाज-गौस
पता चला है कि कन्हैयालाल की हत्या करने के बाद रियाज और गौस देश छोड़कर जाने की प्लानिंग बना रखी थी, लेकिन राजस्थान पुलिस ने उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया। राजस्थान पुलिस ने कन्हैयालाल के हत्यारों रियाज और गौस को महज 5 घंटे में गिरफ्तार कर लिया था।

28 जून को होनी थी दो हत्याएं
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दंगे भड़काने के लिए रची गई इस साजिश में दो लोगों की हत्या की जानी थी, जिसके लिए चार लोग तय किए गए थे। कन्हैयालाल का तालिबानी तरीके से गला रेतने का जिम्मा रियाज और गौस को दिया गया था। ये दोनों तो अपनी नापाक साजिश में कामयाब भी हो गए, लेकिन दूसरी हत्या की साजिश फेल हो गई।

अजमेर के रास्ते जाना चाहते थे देश के बाहर
पता चला है कि कन्हैयालाल की हत्या के बाद रियाज और गौस देश छोड़कर जाने वाले थे। इसके लिए उन्होंने फुलप्रूफ प्लान बनाया था। मिली जानकारी के अनुसार देश से बाहर जाने के लिए उन्होंने किसी से बात कर रखी थी। इस व्यक्ति से बात की गई थी, उसने उसे अजमेर तक पहुंचने की बात कही थी। अजमेर के रास्ते दोनों शख्स देश से बाहर जाने की फिराक में थे, लेकिन इससे पहले ही पुलिस ने उन्हें दबोच लिया। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दोनों आरोपियों जब पकड़ा गया, तो उनका कहना था कि उन्हें यकीन नहीं है कि अल्लाह ने उन्हें कैसे पकड़वा दिया।

About bheldn

Check Also

‘गुनाह के तहत सजा मिलनी चाहिए’, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने हाथरस वाले बाबा के खिलाफ कर दी एक्शन की मांग

लखनऊ उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने हाथरस हादसे (भोलेबाबा सत्संग) को लेकर बयान …