ज्ञानवापी केस पर सुनवाई अब 12 जुलाई को, आ सकता है बड़ा फैसला

वाराणसी

ज्ञानवापी स्थित श्रृंगार गौरी के नियमित दर्शन-पूजन और अन्‍य विग्रहों के संरक्षण के लिए दायर याचिका पर सोमवार से नियमित सुनवाई शुरू हुई। सोमवार को सुनवाई के बाद वाराणसी कोर्ट ने मामले को 12 जुलाई को सुनवाई के लिए तय किया है। अवकाश के दिन को छोड़ रोज सुनवाई होने से दस दिनों में फैसला आ सकता है। इसके बाद 17 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी। सोमवार से शुरू हो रही सुनवाई को लेकर हलचल बढ़ गई है। गर्मी की छुट्‌टी से पहले इस मामले में सुनवाई हो रही थी। वाराणसी कोर्ट ने इस मामले को 4 जुलाई से सुनने का निर्णय लिया। इससे पहले ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे का मामला खूब गरमाया हुआ था। ज्ञानवापी मस्जिद के वजुखाने में शिवलिंग मिलने के मामले को लेकर देश भर में चर्चा शुरू हुई। इसके बाद हिंदू पक्ष ने वहां पर पूजा का अधिकार दिए जाने की मांग शुरू कर दी है। केस पर चल रही सुनवाई के पल-पल का अपडेट हम आपको यहां देंगे।

ज्ञानवापी केस की 12 जुलाई को होगी सुनवाई
ज्ञानवापी मामले की सोमवार को होने वाली सुनवाई पूरी हो गई। अब यह सुनवाई 12 जुलाई को पूरी होगी। इस दिन केस में पोषणीयता पर बड़ा फैसला आ सकता है। सोमवार को सुनवाई के क्रम में मुस्लिम पक्ष ने हिंदू पक्ष की ओर पेश किए गए 52 में से 51 बिंदुओं पर अपनी दलील पेश कर दी। अब 12 जुलाई को होने वाली सुनवाई के दौरान दोनों पक्षों के वकीलों के बीच जिरह के बाद कोर्ट फैसला सुना सकता है। ज्ञानवापी मस्जिद में माता श्रृंगार गौरी की नियमित पूजा की मांग को लेकर दर्ज किए गए केस की पोषणीयता पर फैसला आना है।

वकील विष्णु जैन ने सुनवाई के बाद कहा कि मुस्लिम पक्ष की ओर से दलीलें पूरी कराई गई हैं। 9 बिंदुओं पर कुछ सबमिशन करना है। उन्होंने बीच में कुछ छुटि्टयां पड़ रही थी। तमाम बिंदुओं को देखते हुए कोर्ट ने 12 जुलाई की तारीख तय की है। 12 जुलाई को मुस्लिम पक्ष अपना प्वाइंट रखेगा। इस केस में लॉ प्वाइंट पर अपनी बात रखेगा। उन्होंने दावा किया कि हिंदू पक्ष काफी मजबूत है। हमने अपनी प्वाइंट काफी मजबूती से रखा है।

विष्णु जैन ने कहा कि केस में हमने जो भी प्वाइंट रखे हैं, वह तथ्यों के आधार पर रखे गए हैं। सुप्रीम कोर्ट के आदेश और अन्य मामलों को देखते हुए मैं एक वकील के तौर पर कह सकता हूं कि इस मामले में हमारा पक्ष काफी मजबूत है। विष्णु जैन ने कहा कि 1947 को ज्ञानवापी का स्ट्रक्चर कैसा था, उसमें सर्वे रिपोर्ट काफी अहम हो सकता है।

ज्ञानवापी मामले पर सुनवाई हुई शुरू
ज्ञानवापी मामले की सुनवाई शुरू हो गई है। जिला जज की अदालत में मामले की सुनवाई हो रही है। सुनवाई के दौरान हिंदू और मुस्लिम दोनों पक्षों के 49 लोग मौजूद हैं। कोर्ट में मामला सुनने लायक है या नहीं, इस पर फैसला होना है। जिला जज की कोर्ट के आसपास सुरक्षा को बढ़ाया गया है। हिंदू पक्ष की ओर से ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर 52 बिंदु रखे गए हैं। इसमें से 36 बिंदुओं पर पहले ही मुस्लिम पक्ष की ओर से अपनी बात रखी जा चुकी है। सोमवार से होने वाली सुनवाई में मुस्लिम पक्ष 37वें बिंदु से अपना पक्ष रखेगा। माना जा रहा है कि मुस्लिम पक्ष की ओर से सभी 52 बिंदुओं पर अपनी राय रखने में दो दिनों का समय लग सकता है। इसके बाद हिंदू पक्ष की ओर से भी जवाब दिया जा सकता ह। कोर्ट दोनों पक्षों को सुनने के बाद अपना फैसला सुनाएगा।

हिंदू पक्ष ने किया दावा
हिंदू पक्ष के सोहनलाल ने सुनवाई शुरू होने से पहले कहा कि हमारी बातों में कोई कमी नहीं है। हमने अपना पक्ष मजबूती से रखा है। हमारे दावों में दम है। कोर्ट में अगर मुस्लिम पक्ष सभी 52 पैरे पर अपनी बात पूरी कर लेता है तो हम अपन पक्ष रखेंगे।

सुनवाई पर आया हरिशंकर जैन का बयान
सुनवाई को लेकर हरिशंकर जैन और विष्णु जैन को हटाए जाने का मामला भी गरमाया हुआ है। हरिशंकर जैन ने इस मामले में कहा है कि हिंदू पूक्ष की ओर से पहले हमें वकील बनाया गया था।

परिसर में मिले थे कई निशान
हिंदू पक्ष की ओर से कोर्ट में कई दावे किए गए हैं। ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे के दौरान स्वास्तिक, दीप, डमरू आदि मिलने का मामला सामने आया है। इस मामले के सामने आने के बाद से हिंदू पक्ष की ओर से इस पर अपना दावा किया गया। हिंदू पक्ष की पूजा पद्धति के सामग्रियों के मामले आने के बाद से माहौल गरमाया हुआ है। हिंदू पक्ष इस मामले में अपने दावे को सही माना है।

दोपहर बाद 2 बजे से शुरू होगी सुनवाई
ज्ञानवापी मस्जिद केस पर वाराणसी कोर्ट में अपराह्न 2 बजे से सुनवाई शुरू होगी। इसमें माना जा रहा है कि मुस्लिम पक्ष और हिंदू पक्ष के वकीलों की ओर से पेश की जाने वाली दलीलों को सुना जाएगा। पिछली सुनवाई के दौरान एक मामले में मुस्लिम पक्षकार के वकील की ओर से दलील चल रही थी। इसके पूरा होने के बाद हिंदू पक्ष अपनी दलील पेश करेगा।

सुनवाई से पहले ही हिंदू पक्ष में बहस तेज
वाराणसी कोर्ट में सुनवाई से पहले हिंदू पक्षकार के वकील को लेकर में बहस तेज हो गई है। हिंदू पक्षकार राखी सिंह के पैरोकार ने कहा कि हरिशंकर जैन और विष्णु जैन हमारे वकील नहीं हैं। दोनों को पहले ही हिंदू पक्षकार की ओर से हटाए जाने की घोषणा की गई थी। सोमवार को सुनवाई से पहले राखी सिंह के पैरोकार जितेंद्र सिंह बिसेन ने हरिशंकर जैन और विष्णु जैन पर भ्रम की स्थिति पैदा करने का आरोप लगाया। अब तक की सुनवाई में ये दोनों हिंदू पक्ष को रखते दिखे थे।

शिवलिंग के दावे वाले स्थान को सील करने का फैसला
दिल्‍ली की राखी सिंह व वाराणसी की लक्ष्‍मी देवी, सीता शहू, मंजू व्‍यास व रेखा पाठक की ओर से दायर याचिका पर सिविल जज (सीनियर डिवीजन) की अदालत ने ज्ञानवापी परिसर में सर्वे और वहां वजूखाने में दावे वाले शिवलिंग को सील करने का आदेश दिया था। अंजुमन इंतजामिया मस्जिद कमिटी ने इसे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर जिला जज डॉ. अजय कृष्‍ण विश्‍वेश की अदालत में 26 मई से 30 मई तक सुनवाई चली थी।

ग्रीष्‍मावकाश के चलते सुनवाई 4 जुलाई तक टल गई थी। अब सोमवार से फिर सुनवाई शुरू होने पर मुस्लिम पक्ष की बहस जारी रहेगी। इसके बाद हिंदू पक्ष के वीकल अपना पक्ष रखेंगे। प्रकरण की सुनवाई 17 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट में होनी है, इसलिए इससे पहले फैसला आने की उम्‍मीद है।

इन मामलों की भी होगी सुनवाई
भगवान विश्‍वेश्‍वर के वाद मित्र विजय शंकर रस्‍तोगी, निर्मोही अखाड़े, हिंदू महासभा, विश्‍व हिंदू महासमिति ने भी पक्षकार बनने के लिए अर्जी दी है। इसके अलावा ज्ञानवापी मस्जिद में हुए सर्वे की फोटो और विडियो लीक होने की सीबीआई जांच की मांग वाली अर्जी पर भी सुनवाई होनी है। अदालत ने पहले ही सीबीआई जांच संबंधी प्रार्थना पत्र स्‍वीकार करते हुए सुनवाई के लिए 4 जुलाई की तारीख तय की है।

हिंदू पक्ष ने तीन वकील हटाए
ज्ञानवापी प्रकरण की सुनवाई शुरू होने से पहले हिंदू पक्ष के तीन वकीलों के नाम हटा दिए गए हैं। मुख्‍य पक्षकार विश्‍व वैदिक सनातन संघ के प्रमुख जितेंद्र सिंह बिसेन ने बताया कि हिंदू पक्ष के पैनल में वकील हरिशंकर जैन, मदन मोहन यादव और सुधीर त्रिपाठी वकील नहीं होंगे। इनका वकालतनामा निरस्‍त करने का पत्र 4 जुलाई को सुनवाई शुरू होने पर अदालत में दिया जाएगा। मुख्‍य पक्षकार के मुताबिक अब सुनवाई में हिंदू पक्ष की ओर से शिवम गौड़, मानबहादुर सिंह, अनुपमन द्विवेदी और सुभाष अनंत चतुर्वेदी ही शामिल होंगे।

About bheldn

Check Also

‘जालंधर में एक मकान किराए पर लूंगा…’, बोले जालंधर उपचुनाव की तैयारियों में जुटे पंजाब CM भगवंत मान

चंडीगढ़, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने शनिवार को कहा कि वह AAP के उपचुनाव …