होम लोन बढ़ते ही घर खरीदार गायब, Delhi-NCR में इतनी गिरी बिक्री

नई दिल्ली,

देश में महंगाई की मार झेल रही जनता के लिए सड़क पर चलने से लेकर रसोई में खाना बनाने तक का खर्च बढ़ा है. इस बीच अपना घर खरीदने का प्लान बना रहे लोगों के लिए भी महंगाई उनकी योजना पर ब्रेक लगाने वाली साबित हो रही है. रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर में अप्रैल-जून तिमाही में दिल्ली-एनसीआर में घरों की बिक्री 19 फीसदी तक घट गई है.

एनारॉक ने जारी किए बिक्री के आंकड़े
प्रॉपर्टी कंसल्‍टेंट कंपनी एनारॉक (Anarock) की रिपोर्ट में दिए गए आंकड़ों को देखें तो तिमाही आधार पर दिल्ली-एनसीआर में घरों की बिक्री घटकर 15,340 यूनिट्स रह गई. इससे पहले जनवरी-मार्च, तिमाही में आवासीय बिक्री 18,835 यूनिट्स रही थी. एनारॉक की ओर से कहा गया है कि दिल्ली-एनसीआर के लगभग सभी क्षेत्रों में भी घरों की बिक्री में गिरावट का रुख देखने को मिल रहा है.

गिरावट की ये रही बड़ी वजह
घरों की बिक्री में आई इस बड़ी गिरावट की वजह संपत्ति की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि (Property Prices Rise) को बताया गया है. इसके साथ ही रिपोर्ट में कहा गया है कि होम लोन (Home Loan) की ब्याज दरों में हालिया समय में की गई बढ़ोतरी का भी विपरीत असर के बढ़ने से मांग पर देखने को मिला है. गौरतलब है कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा रेपो दरों (Repo Rate) में लगातार दो बार इजाफा किए जाने के बाद ज्यादातर बैंकों ने होम लोन की ब्याज दरों में वृद्धि की है.

56 फीसदी तक कम हो गई सप्लाई
एनारॉक के डेटा के अनुसार, इस तिमाही में दिल्ली-एनसीआर में नई लॉन्च या सप्लाई 56 फीसदी घटकर 4,070 यूनिट्स रह गई, जो कि इससे पिछली तिमाही में 9,300 यूनिट्स रही थी. इस दौरान बिना बिके घरों की संख्या जून तिमाही के अंत में महज 7 फीसदी की गिरावट आई और यह घटकर 1,41,235 यूनिट्स रह गई, जो 31 मार्च 2022 को 1,51,500 यूनिट्स रही थी.

नोएडा-गुरुग्राम में इतनी घटी बिक्री
आकड़ों को देखें तो बीती तिमाही के दौरान, गुरुग्राम में घरों की बिक्री 8,850 यूनिट्स से घटकर 7,580 यूनिट्स रह गई. नोएडा में यह आंकड़ा घटकर 1,650 यूनिट्स रह गया, जो इससे पिछली तिमाही में 2,045 यूनिट्स था. इसके साथ ही नोएडा में जून तिमाही में कोई भी नई लॉन्च देखने को नहीं मिली. ग्रेटर नोएडा में घरों की बिक्री 3,450 इकाइयों से गिरकर 2,750 इकाई, तो गाजियाबाद में 2,080 से घटकर 1,650 इकाई रह गई. फरीदाबाद, दिल्ली और भिवाड़ी में आवास की बिक्री अप्रैल-जून 2022 के दौरान घटकर 1,710 इकाई रह गई, जो पिछली तिमाही में 2,410 इकाई थी.

About bheldn

Check Also

5 साल में 25,00,000 नौकरी… मोदी सरकार का ‘इलेक्‍ट्रॉनिक’ प्‍लान रेडी, क्‍या है टारगेट?

नई दिल्‍ली: मोदी सरकार का पूरा फोकस बेरोजगारी कम करने पर है। इसके लिए वह …