‘काली’ पर एक्शन में आया भारतीय उच्चायोग, कनाडा सरकार से कहा- तुरंत हटाएं पोस्टर

फिल्ममेकर लीना मण‍िमेकलई की डाक्यूमेंट्री ‘काली’ के पोस्टर पर विवाद खड़ा कर हो गया है. 2 जुलाई को रिलीज इस पोस्टर में ‘मां काली’ को सिगरेट पीते और हाथ में LGBTQ का झंडा लिए दिखाया गया है. इस फिल्म के पोस्टर को कनाडा में आयोजित किए गए एक प्रोजेक्ट ‘अंडर द टेंट’ के तहत प्रदर्शित किया गया है. यह प्रोजेक्ट टोरंटो के आगा खान म्यूजियम में प्रदर्शित किया गया.

इतने बवाल के बाद अब कनाडा में भारतीय उच्चायोग ने इस मामले पर बयान जारी किया है. बयान में कहा गया है कि हमें कनाडा के हिंदू नेताओं की तरफ से कई शिकायतें मिली हैं. शिकायत में कहा जा रहा है कि कनाडा में अंडर द टेंट प्रोजेक्ट के तहत एक पोस्टर प्रदर्शित किया गया है. इसमें हिंदू देवी-देवताओं की बेअदबी की गई है.

बयान में आगे कहा गया कि टोरंटो में मौजूद हमारे काउंसलेट जनरल ने कार्यक्रम के आयोजनकर्ताओं को हमारी चिंताओं के बारे में बता दिया है. हमने कई हिंदू समूहों को भी जानकारी दे दी है कि कनाडा में मौजूद जिम्मेदारों को कार्रवाई करने के लिए कहा गया है. हम कनाडा के अधिकारियों से अपील करते हैं कि सभी आपत्तिजनक मटेरियल को तुरंत हटा लिया जाए.

क्या है मां काली पोस्टर विवाद?
बता दें कि डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘काली’ का पोस्टर इंडियन फिल्ममेकर लीना मणिमेकलई ने 2 जुलाई को रिलीज किया था. फिल्म के पोस्टर में ‘मां काली’ को सिगरेट पीते दिखाया गया है. यही नहीं, उनके एक हाथ में त्रिशूल तो दूसरे हाथ में एलजीबीटी समुदाय का सतरंगा झंडा दिखाया गया है. इन्हीं दो चीजों पर विवाद हो रहा है. यूजर लीना मणिमेकलई को अरेस्ट करने की मांग कर रहे हैं. सोशल मीडिया पर फिल्ममेकर लीना मणिमेकलई को लोग जमकर खरी-खोटी सुना रहे हैं. सोशल मीडिया पर #arrestleenamanimekalai ट्रेंड कर रहा है. लोगों का कहना है कि मेकर्स ने पोस्टर में मां काली का अपमान किया है.

आया फिल्ममेकर का बयान
फिल्ममेकर लीना मण‍िमेकलई ने भी विवाद पर रिएक्शन दिया है. लीना ने ट्वीट कर कहा कि- ‘फिल्म उन घटनाओं के इर्द-गिर्द घूमती है, जो उस शाम की है, जब काली प्रकट होती है और टोरंटो की सड़कों पर टहलती है. यदि आप तस्वीर देखते हैं, तो हैशटैग “अरेस्ट लीना मणिमेकलई” न डालें और हैशटैग “लव यू लीना मणिमेकलई” डालें’. लीना के इस क्लैर‍िफ‍िकेशन के बावजूद सोशल मीड‍िया यूजर्स की नाराजगी कम नहीं हुई. लोगों ने उन्हें फिर से जमकर फटकार लगाया है.

About bheldn

Check Also

‘फिजिशियन के 500 और सर्जन के हो 300’, पप्पू यादव ने की डॉक्टरों की फीस कम करने की मांग

पूर्णिया, पूर्णिया सांसद पप्पू यादव ने डॉक्टरों से अपनी फीस कम करने की मांग की …