कन्हैया हत्याकांड: रियाज के टारगेट पर थे उदयपुर में दो और लोग, राजस्थान में था ये प्लान

उदयपुर नई दिल्ली,

राजस्थान के उदयपुर में कन्हैया लाल हत्या मामले में रोजाना चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं. घटना की जांच एनआईए कर रही है. आरोपियों का पाकिस्तान सामने आ चुका है. अब एक ऐसा शख्स सामने आया है, जिसने मुख्य आरोपी रियाज अत्तारी और उसके साथियों को लेकर चौंकाने वाले खुलासे किए हैं. रियाज अत्तारी और उसकी गैंग के टारगेट पर उदयपुर में दो और लोग थे. इसके अलावा, रियाज राजस्थान में दावत-ए-इस्लामी का स्लीपर सेल तैयार कर रहा था. इसके लिए वह लोगों को जोड़ रहा था.

बता दें कि कन्हैया लाल के हत्यारे रियाज अत्तारी और गौस मोहम्मद को पुलिस जेल भेज चुकी है. आरोपियों का साथ देने वाले दो अन्य आरोपी भी पकड़े गए हैं. जांच एजेंसी लगातार घटना की तह में जाने की कोशिश कर रही है. आरोपी 28 जून को कन्हैयालाल की दुकान में कपड़े सिलवाने गए थे. यहां नाप लेते वक्त आरोपियों ने कन्हैया पर हमला कर दिया और बेरहमी से हत्या कर दी.

मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में रहकर साजिश करता था रियाज
इस हत्याकांड की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी कर रही है. जांच में पता चल रहा है कि कन्हैया लाल का हत्यारा रियाज राजस्थान में दावत-ए इस्लामी का स्लीपर सेल खड़ा कर रहा था. रियाज उदयपुर में रह रहा था. यहां लगातार अलग-अलग इलाकों में किराए का कमरा लेकर रहता था. खासकर मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में रियाज घर की तलाश करता था, ताकि समाज के लोगों का ब्रैन वॉश कर सके.

लोगों को लालच देता था रियाज
बताते हैं कि रियाज लोगों को टारगेट करता था और उनको दावत-ए इस्लामी से जोड़ता था, इसके लिए वो अलग-अलग तरह से लालच भी देता था. एजेंसियों के सामने एक शख्स ने खुलासा भी किया. आजतक ने उस शख्स से बातचीत की है. ये शख्स भी उसी इलाके में रहता है जहां रियाज और गौस मोहम्मद किराए का कमरा लेकर रहते थे.

चंदा जुटाने के लिए कहता था रियाज
ये शख्स ऑटो चलाता है. उसने बताया कि रियाज उससे एक दुकान में मिला था और उसी दौरान कहा कि तुम दावत-ए इस्लामी से जुड़ जाओ. दावत-ए इस्लामी के लिए चंदा जुटाओ. नमाज के लिए मेरे पास आओ. इस काम में बाहर भी जाना होता है. तुम हमसे जुड़ोगे तो बरकत मिलेगी.

पहले खुद नहीं करना चाहता था कन्हैया की हत्या
आजतक से बातचीत में इस शख्स ने बड़े खुलासे किए. उसने बताया कि रियाज और भी लोगों से इस तरह से बातचीत में दावत-ए इस्लामी से जुड़ने के लिए कहता था. कन्हैया लाल की हत्या में गिरफ्तार आसिफ और मोहसिन को भी रियाज ने एक दुकान पर मुलाकात के दौरान ही जोड़ा था. रियाज ने कन्हैया की हत्या का टास्क पहले आसिफ और मोहसिन को दिया था. जब उन दोनों ने मना किया तो रियाज और गौस मोहम्मद ने वारदात को अंजाम दिया. जबकि साजिश में आसिफ और मोहसिन साथ थे.

रियाज के टारगेट पर थे उदयपुर में तीन लोग
शख्स ने बताया कि रियाज और गौस मोहम्मद के टारगेट पर उदयपुर शहर के तीन लोग थे. इनमें कन्हैयालाल का नाम भी शामिल था. एक नामी व्यापारी की हत्या का जिम्मा रियाज ने एक शख्स को दिया था. उस शख्स ने व्यापारी को धमकी दी. बाद में वो व्यापारी उदयपुर छोड़कर भाग गया. पुलिस ने धमकी देने वाले शख्स को भी हिरासत में लिया है.

उदयपुर का वसीम हिरासत में, पूछताछ हो रही
वहीं, इस घटना की जांच कर रही एजेंसियों ने उदयपुर के रहने वाले वसीम अटारी और अख्तर राजा को हिरासत में लिया है. उनसे पूछताछ की जा रही है. बताया गया कि वसीम और अख्तर राजा दावत-ए इस्लामी से जुड़ा हुए हैं. ये दोनों गौस मोहम्मद के साथ पाकिस्तान में ट्रेनिंग लेने गए थे. वसीम अटारी रियाज का रिश्तेदार भी है. बताते हैं कि वसीम उदयपुर में लोगों को दावत-ए इस्लामी से जोड़ने में लगा था.

About bheldn

Check Also

अब CBI करेगी नीट परीक्षा में गड़बड़ी की जांच, देशभर में जारी बवाल के बाद जागी केंद्र सरकार

नई दिल्ली, शिक्षा मंत्रालय ने NEET-UG परीक्षा में कथित गड़बड़ियों का मामला व्यापक जांच के …